लखनऊ उत्तर प्रदेश में संक्रमण का कोई खतरा नहीं, आपात स्थिति से निपटने को तैयार हैं- ब्रजेश पाठक

उत्तर प्रदेश में संक्रमण का कोई खतरा नहीं, आपात स्थिति से निपटने को तैयार हैं- ब्रजेश पाठक

उत्तर प्रदेश में संक्रमण का कोई खतरा नहीं, आपात स्थिति से निपटने को तैयार हैं- ब्रजेश पाठक

लखनऊ: कोरोना वायरस संक्रमण की संभावित लहर के मद्देनजर आपात स्थिति में तैयारियों के आकलन के लिए मंगलवार को उत्तर प्रदेश के सभी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेज में ‘मॉकड्रिल’ (पूर्वाभ्यास) किया गया. राज्य में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग मामलों के मंत्री और उप मुख्‍यमंत्री ब्रजेश पाठक यहां राजधानी लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल में किये गये पूर्वाभ्यास में शामिल हुए और भरोसा जताया कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर अब कोई खतरा नहीं है, फिर भी हम किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं.

बलरामपुर अस्पताल में उप मुख्‍यमंत्री पाठक ने मानवीय संवेदना दिखाते हुए ठंड से कांपते एक मरीज को अपनी सदरी (जैकेट) निकालकर पहना दी. ‘मॉकड्रिल’ के बाद बलरामपुर अस्पताल में पत्रकारों से बातचीत में ब्रजेश पाठक ने कहा कि कोविड-19 की तैयारियों के अवलोकन के लिए आज राज्य के सभी अस्पतालों में ‘मॉकड्रिल’ की जा रही है. मैं आज लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल आया हूं और खुद ऑक्सीजन प्रवाह और वेंटिलेटर की जांच की है. उन्होंने सब कुछ ठीक-ठाक होने का दावा करते हुए कहा कि मेडिकल स्टाफ, पैरामेडिकल और नर्सिंग स्टाफ के साथ आपात स्थिति में सभी लोग उपस्थित रहेंगे और सभी इस बात की व्‍यवस्‍था सुन‍ि‍श्चित करेंगे कि यदि कोई संक्रमित मरीज आता है तो उसे भर्ती कर बेहतर इलाज करें. उन्होंने कहा कि राज्य भर में पूरी व्यवस्था बेहतर ढंग से की जा रही है.

पाठक ने यह भी कहा कि राज्य भर के अस्पतालों में ‘मॉकड्रिल’ में कम से कम एक वरिष्ठ अधिकारी, विधायक या मंत्री मौजूद हैं. अन्य देशों में कोविड-19 के मामले हैं लेकिन हमारे राज्य में अभी संक्रमण का खतरा नहीं है, फिर भी हम किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं. हम सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और मुख्‍यमंत्री (योगी आदित्‍यनाथ) के नेतृत्व में एक साथ मिलकर कोरोना वायरस को हराएंगे. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से घबराने की जरूरत नहीं है, सिर्फ सतर्कता की जरूरत है और अगर आपके परिवार में, पड़ोस में कोई विदेश से कोई लौटकर आता है तो उसकी जानकारी प्रशासन को जरूर दें, ताकि उनकी जांच कराई जा सके. इससे यदि संक्रमण फैलता है तो उस वायरस के स्वरूप की जानकारी मिल सकेगी. कांग्रेस की ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ और विपक्षी दलों को न्योता देने के सवाल पर उप मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘यह उनका निजी मामला है कि वे किसे आमंत्रित करते हैं.’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ ‘फ्लॉप’ है और यह मजाक बनकर रह गयी है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें