लोकसभा चुनाव के बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत की पहली प्रतिक्रिया, कहा- पिछले 10 साल में बहुत कुछ अच्छा हुआ

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत की पहली प्रतिक्रिया सामने आई है. कार्यकर्ता विकास वर्ग के समापन सत्र में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि काम करें लेकिन मैंने किया, ये अहंकार मत लाना. हमारी परंपरा को विश्व की जरूरत है. इससे दुनिया को राहत मिलेगी, हमारा जीवन भी सार्थक होगा.

संघ की शाखाओं में कैसे, क्या होता है.ये दूर से नहीं पता चल सकता है. इसमें आपको सहभागी बनना होगा. संघ के स्वयं-सेवक अनेक कार्य करते हैं. जीवन का कोई ऐसा क्षेत्र नहीं जिसके लिए ये स्वयं-सेवक कार्य न करते हों. काम करें लेकिन मैंने किया है ये अहंकार मत पालें.

संयम से रहें, हमें अय्याशी नहीं चाहिए. समाज से 5 बातों का आग्रह है. इसमें सामाजिक समरसता, पर्यावरण, स्व-आधिरत व्यवहार है. हम संयम से रहें, हमें अय्याशी नहीं चाहिए. हमें संयमित उपभोग पर ध्यान देना है. अनावश्यक खर्च से बचना है. सादगी से रहना है, स्वदेशी को व्यवहार में लाना है. जो अपने देश में बनता है, उसे बाहर से नहीं लेना है. अपने देश की व्यवस्था, संविधान और कानून का पालन करना है.

लाल बत्ती पर रुक जाना, टैक्स को समय पर जमा करना ये सब कुछ हम कर सकें. इसके लिए हफ्ते में एक बार परिवार के साथ बैठकर बात करना. मोहन भागवत ने आगे कहा कि चुनाव परिणाम आ चुके हैं, सरकार बन गई है. वही सरकार (NDA) फिर से आ गई है. पिछले 10 साल में बहुत कुछ अच्छा हुआ है. वैश्विक स्तर पर देश की पहचान अच्छी हुई है. लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हम चुनौतियों से मुक्त हो गए.

हमारे यहां सहमति बनाकर चलने की परंपरा है.  चुनाव में RSS के खिलाफ झूठ फैलाया गया. कैसी-कैसी बातें की गईं, तकनीकी का सहारा लेकर ऐसा किया गया. चुनाव लड़ने की एक मर्यादा होती है. मणिपुर में हो रही हिंसा पर भी भागवत ने कह कि मणिपुर पिछले एक साल से शांति की राह देख रहा है वो साल भर से सुलग रहा है या सुलगाया गया है. मणिपुर पर प्राथमिकता से विचार करना होगा.