डूंगरपुर Dungarpur: मांगे पूरी नहीं होने पर सरपंच उतरे आन्दोलन की राह पर, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

Dungarpur: मांगे पूरी नहीं होने पर सरपंच उतरे आन्दोलन की राह पर, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

Dungarpur: मांगे पूरी नहीं होने पर सरपंच उतरे आन्दोलन की राह पर, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

डूंगरपुर: आसपुर (Aspur) राज्य सरकार से लिखित समझौते के बाद भी सरपंचों की मांगे पुरी नहीं होने से डूंगरपुर जिले के सरपंच भी आन्दोलन की राह पर उतर गए हैं. डूंगरपुर जिले के दोवड़ा सरपंच संघ सहित सभी ब्लॉक्स में सरपंच संघ ने पंचायतों में होने वाली ग्राम सभाओं का आज बहिष्कार किया. वहीं पंचायत समितियों पर राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया है. राज्य सरकार से विभिन्न मांगो को लेकर हुए लिखित समझोते के बाद भी सरकार द्वारा कोई कदम नहीं उठाए जाने पर डूंगरपुर जिले के सरपंचो में भी रोष है. 

सरपंच संघ के प्रदेशव्यापी आव्हान पर डूंगरपुर जिले के सरपंच संघ के बेनर तले सरपंच आन्दोलन की राह पर उतर गए हैं. इसी के तहत डूंगरपुर जिले के सभी 353 सरपंचो ने उनकी पंचायतो में होने वाली ग्राम सभाओं का आज बहिष्कार किया. वहीं ग्राम सभाओं के बहिष्कार के बाद दोवड़ा ब्लॉक सरपंच संघ सहित अन्य ब्लॉक के सरपंच संघ के बेनर तले सरपंच पंचायत समिति मुख्यालय पर एकत्रित हुए. इस दौरान सरपंचों ने लिखित समझौते के बाद भी मांगे पुरी नहीं होने पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया. 

ग्राम सभाओं का बहिष्कार किया:

इस मौके पर सरपंच संघ के जिला अध्यक्ष लीलाराम वरहात ने बताया की 21 मार्च 2022 को जयपुर में राजस्थान सरपंच से सरकार ने उनकी मांगो को पूरा करने के लिए लिखित समझौता किया था. लेकिन समझौते के चार माह बीत जाने के बाद भी सरकार ने सरपंचों की मांगों को पूरा नहीं करते हुए उनकी अनदेखी की है और वादा खिलाफी की है. जिसके चलते सरपंचो में आक्रोश व्याप्त है. उन्होंने बताया की आज ग्राम सभाओं का बहिष्कार किया गया है वहीं एक अगस्त को जिला स्तर पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा. वहीं 5 अगस्त को जयपुर में अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया जाएगा. सभी पंचायत समिति मुख्यालयों पर सरपंच संघ ने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर मांगो को जल्द पूरा करने की मांग की है.

और पढ़ें