छत्तीसगढ़ ISBM University ने रिसर्च फॉर रिसर्जेंस फाउंडेशन के साथ साइन किया समझौता ज्ञापन

ISBM University ने रिसर्च फॉर रिसर्जेंस फाउंडेशन के साथ साइन किया समझौता ज्ञापन

ISBM University ने रिसर्च फॉर रिसर्जेंस फाउंडेशन के साथ साइन किया समझौता ज्ञापन

 छत्तीसगढ़ - ISBM University छत्तीसगढ़ और Research For Resurgence Foundation, Nagpur के बीच उच्च शिक्षा और शोध के क्षेत्र में एक साथ काम करने को लेकर MOU (Memorandum of Understanding) साइन किया गया यानी दोनों के बीच एक समझौता किया गया.

Research For Resurgence Foundation भारतीय शिक्षण मंडल द्वारा स्थापित की गयी संस्था है जो 1969 से शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रही है. ये संस्था राष्ट्रीय के महत्व के क्षेत्रों पर भी काम करती है और देश में चल रहे सभी ख़ास करेंट मुद्दे पर भी अपनी राय रख उसका समाधान निकालती है. इसके साथ ही इस संस्था का उद्देश्य छात्रों, पर्यवेक्षकों और वैज्ञानिकों का समर्थन में काम करना है.

इसके साथ ही ये फाउंडेशन भारत के शोधार्थियों को शोध एवं छात्र- छात्राओं को प्रोजेक्ट कार्य करने के लिए सहयोग एवं प्रोत्साहित करती है. वहीं इस संस्था द्वारा फैकल्टी एक्सचेंज प्रोग्राम चलाया जाता है जिसमें शिक्षा का गुणवोत्तर विकास होता है. इस समझौते के बीच यूनिवर्सिटी के कुलसचिव एवं शोध संसथान के तट्रस्टी महेश देवक ने समझौते पर हस्ताक्षर किया.

वहीं कहा जा रहा है Research For Resurgence Foundation के साथ ISBM University का ये समझौता विश्वविध्यालय के छात्रों के साथ साथ देश के छात्रों और रिसर्च क्षेत्र में निश्चित रूप से प्रगति का काम करेंगी.

बता दें कि ISBM University ने Research For Resurgence Foundation के साथ ये समझौता एक बार फिर देश के युवाओं में बेहतर स्किल विकास और छात्रों के विकास के लिए किया गया है. यूनिवर्सिटी के कुलसचिव एवं शोध संसथान के तट्रस्टी महेश देवक ने भी इस समझौते को देश और ISBM University में पढ़ रहे छात्रों के लिए बेहतर भविष्य बनाने की ओर एक बेहतर कदम बताया है. संस्था के साथ मिलकर यूनिवर्सिटी बेहतर हुनर के साथ छात्रों को ट्रेंड करने में सफल होगी.

और पढ़ें