मुंबई अमिताभ बच्चन के घर 'जलसा' में लगी 'मधुशाला' पुस्तक जैसे आकार की बेंच

अमिताभ बच्चन के घर 'जलसा' में लगी 'मधुशाला' पुस्तक जैसे आकार की बेंच

अमिताभ बच्चन के घर 'जलसा' में लगी 'मधुशाला' पुस्तक जैसे आकार की बेंच

मुंबई: महानायक अमिताभ बच्चन ने सोमवार को कहा कि उनके घर 'जलसा' में कविताओं की लोकप्रिय पुस्तक 'मधुशाला' के समान पत्थर की एक बेंच लगायी गयी है.मधुशाला की रचना अमिताभ के पिता एवं प्रसिद्ध कवि हरिवंश राय बच्चन ने की थी.अमिताभ (80) ने अपने निजी ब्लॉग पर इसकी जानकारी देते हुए जुहू स्थित अपने आलीशान बंगले के आंगन में स्थापित बेंच की कई तस्वीरें साझा भी कीं.

अभिनेता के अनुसार यह बेंच पोलैंड के शहर व्रोकला में बनायी गयी थी, जहां 2020 में हरिवंश राय बच्चन के नाम पर एक चौराहे का नाम रखा गया था. अमिताभ ने अपने ब्लॉग में लिखा, व्रोकला, पोलैंड में मधुशाला की पुस्तक के आकार की पत्थर से बनी एक बेंच. यह बेंच बेहद जटिल और सबसे अनोखे रूप में है. इसका वजन एक टन है. व्रोकला में भारत के महावाणिज्य दूतावास के अधिकारी कार्तिकेय जौहरी के कार्यालय के माध्यम से इसे पोलैंड से लाया गया है.

उन्होंने बेंच को भारत लाने के प्रयासों के लिए व्रोकला में भारत के मानद महावाणिज्यदूत कार्तिकेय जौहरी के प्रति भी आभार व्यक्त किया.गौरतलब है कि 27 नवंबर, 2022 को हरिवंश राय बच्चन की 115वीं जयंती मनाई गई, जो 20वीं सदी की शुरुआत के नयी कविता साहित्यिक आंदोलन के कवि थे. हिंदी साहित्य मे उल्लेखनीय योगदान के लिए 1976 में पद्म भूषण सम्मान से सम्मानित हरिवंश राय बच्चन का 2003 में निधन हो गया था.(भाषा) 

और पढ़ें