मुंबई महाराष्ट्र में पीएफआई के 25 कार्यकर्ता गिरफ्तार, देवेंद्र फडणवीस ने कार्रवाई को साक्ष्य आधारित बताया

महाराष्ट्र में पीएफआई के 25 कार्यकर्ता गिरफ्तार, देवेंद्र फडणवीस ने कार्रवाई को साक्ष्य आधारित बताया

महाराष्ट्र में पीएफआई के 25 कार्यकर्ता गिरफ्तार, देवेंद्र फडणवीस ने कार्रवाई को साक्ष्य आधारित बताया

मुंबई: महाराष्ट्र पुलिस ने राज्य के अनेक जिलों में छापेमारी के बाद पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के 25 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है. महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने संवाददाताओं से कहा कि पीएफआई पर कार्रवाई उनकी गतिविधियों के मामले में जांच पर आधारित कानूनों और सबूतों के अनुरूप है. राज्य के गृह विभाग का भी प्रभार संभाल रहे फडणवीस ने कहा कि समाज में विभाजन पैदा करने और देश को कमजोर करने के प्रयास किये जा रहे हैं. क्रमबद्ध तरीके से ऐसा किया जा रहा है.’’

पुलिस के मुताबिक, औरंगाबाद से 14 लोगों को, ठाणे से चार को, नांदेड़, परभणी और मालेगांव से दो-दो लोगों को और अमरावती से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. ठाणे के पुलिस उपायुक्त (अपराध) लक्ष्मीकांत पाटिल ने कहा कि स्थानीय पुलिस और अपराध शाखा के अधिकारियों द्वारा जिले में चलाए गए संयुक्त अभियान के तहत सोमवार रात को चार पीएफआई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया. उन्होंने बताया कि दो कार्यकर्ताओं को मुंब्रा से और एक-एक को कल्याण व भिवंडी से पकड़ा गया है. औरंगाबाद के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उन्होंने पीएफआई के 14 सदस्यों को गिरफ्तार किया है. नासिक के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सचिन पाटिल ने कहा, ‘‘हमने मालेगांव से दो लोगों को गिरफ्तार किया है.’’ नांदेड़ के पुलिस अधीक्षक निसार तांबोली ने बताया कि उन्होंने दो लोगो को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही पुणे पुलिस ने पीएफआई और इसकी राजनीतिक इकाई सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) से जुड़े छह लोगों को हिरासत में लिया है. एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी.

कोंढवा थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सरदार पाटिल ने कहा कि राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनएआई) और महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) द्वारा पीएफआई पर धर-पकड़ की हालिया कार्रवाई की पृष्ठभूमि में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 151 (3) के तहत यह कदम उठाया गया है. पीएफआई से कथित रूप से जुड़े 150 से ज्यादा लोगों को मंगलवार को सात राज्यों में छापेमारी के दौरान हिरासत में लिया गया था या गिरफ्तार किया गया था. कट्टरपंथी इस्लाम से जुड़े होने के आरोपी इस संगठन के खिलाफ पांच दिन पहले देशभर में तलाशी की कार्रवाई हुई थी. उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र, असम और मध्य प्रदेश में छापों की कार्रवाई मुख्यत: राज्य पुलिस के दलों ने की. एनएआईए पीएफआई से जुड़े 19 मामलों की जांच कर रहा है. इससे पहले, देश में आतकंवादी गतिविधियों को समर्थन देने के आरोप में 22 सितंबर को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) के नेतृत्व में विभिन्न एजेंसियों के अभियान के तहत इसी तरह छापेमारी करके 15 राज्यों में पीएफआई के 106 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया था. सोर्स- भाषा

और पढ़ें