दिल्ली में कोविड-19 संकटः भाजपा का तंज, कहा- विज्ञापनों पर करोड़ों खर्च कर लोगों को ‘‘गुमराह’’ कर रही केजरीवाल सरकार

दिल्ली में कोविड-19 संकटः भाजपा का तंज, कहा- विज्ञापनों पर करोड़ों खर्च कर लोगों को ‘‘गुमराह’’ कर रही केजरीवाल सरकार

दिल्ली में कोविड-19 संकटः भाजपा का तंज, कहा-  विज्ञापनों पर करोड़ों खर्च कर लोगों को ‘‘गुमराह’’ कर रही केजरीवाल सरकार

नई दिल्लीः भाजपा ने सोमवार को राजधानी दिल्ली में कोविड-19 संकट के मद्देनजर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा और दावा किया कि राज्य सरकार प्रचार में करोड़ों रुपए खर्च कर लोगों को ‘‘गुमराह’’ कर रही है तथा अपनी जिम्मेदारियों से भागकर उसने सब कुछ केंद्र के भरोसे छोड़ रखा है.

केजरीवाल सरकार ने विज्ञापनों पर 805 करोड़ रुपए खर्च किए लेकिन एक भी नया अस्पताल नहीं खोलाः
डिजिटल माध्यम से आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने सूचना का अधिकार के तहत मिले एक जवाब का हवाला देते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार 2015 से अब तक विज्ञापनों पर 805 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है लेकिन राष्ट्रीय राजधानी में उसने एक भी नया अस्पताल नहीं खोला.
 
केजरीवाल पर लगाया झूठ बोल कर लोगों को गुमराह करने का आरोपः
आम आदमी पार्टी (आप) के नेता केजरीवाल पर हमला करते हुए पात्रा ने कहा मुख्यमंत्री रोजाना टेलीविजन पर आते हैं और ‘‘झूठ’’ बोल कर लोगों को ‘‘गुमराह’’ करते हैं. उन्होंने कहा कि आप विज्ञापन करते रहे और दावे करते रहे कि लॉकडाउन नहीं होगा, ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है और लोगों के घरों में ऑक्सीजन पहुंचाई जाएगी. जब आपको लगा कि चीजें आपके नियंत्रण से बाहर हो गई हैं तब आपने केंद्र पर सवाल उठाने शुरु किए और फिर बाद में अपनी जिम्मेदारियों से किनारा कर लिया.

60 की उम्र के सिर्फ 17 प्रतिशत लोगों को ही लगी टीकों की दूसरी खुराकः 
पात्रा ने कहा कि केजरीवाल ने 26 अप्रैल को दावा किया था कि उनकी सरकार 1.34 करोड़ टीकों का ऑर्डर देगी जिसकी कीमत तकरीबन 1400 करोड़ रुपए होती है. उन्होंने कहा कि आज वह कह रहे हैं कि उनके पास कुछ नहीं है. दिल्ली में 45 वर्ष से ऊपर के सिर्फ 8.93 प्रतिशत लोगों को टीकों की दूसरी खुराक लगी है. 60 वर्ष से अधिक उम्र के सिर्फ 48.03 प्रतिशत लोगों को ही पहली खुराक लगी है जबकि 60 की उम्र के सिर्फ 17 प्रतिशत लोगों को ही टीकों की दूसरी खुराक लग सकी है.

केजरीवाल ने दिल्ली में ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने के लिए कम ही प्रयास किएः
पात्रा ने आरोप लगाया कि टीकाकरण अभियान को समय पर आगे बढ़ाने की जगह दिल्ली सरकार विज्ञापनों में व्यस्त रही और अब ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर वह राजनीति कर रही है. बृहनमुंबई नगर निगम (बीएमसी) के आयुक्त इकबाल सिंह चहल के एक साक्षात्कार का हवाला देते हुए पात्रा ने कहा कि केजरीवाल ने राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने के लिए कम ही प्रयास किए जबकि चहल ने भी कहा है कि इसके लिए लिए केंद्र को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है.

टीकरी बॉर्डर पर हुई कथित बलात्कार की घटना को लेकर भी आप पर साधा निशानाः
भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि पीएम केयर्स से ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करने के लिए कोष आवंटित किए जाने के बावजूद दिल्ली सरकार एक भी संयंत्र आरंभ नहीं कर सकी और न ही इनके लिए स्थान उपलब्ध करा सकी. राजधानी में किसान आंदोलन के प्रमुख केंद्र टीकरी बॉर्डर पर हुई कथित बलात्कार की घटना के लिए पात्रा ने आप पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि इसमें उसके एक कार्यकर्ता का नाम सामने आया है जो अब गायब है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें