अहमदाबाद Heeraben Modi Passed Away: मोदी परिवार की तरफ से लोगों को अपील- पहले से तय अपने काम आप लोग जारी रखें. यही हीरा बा को सच्ची श्रद्धांजलि होगी

Heeraben Modi Passed Away: मोदी परिवार की तरफ से लोगों को अपील- पहले से तय अपने काम आप लोग जारी रखें. यही हीरा बा को सच्ची श्रद्धांजलि होगी

Heeraben Modi Passed Away: मोदी परिवार की तरफ से लोगों को अपील- पहले से तय अपने काम आप लोग जारी रखें. यही हीरा बा को सच्ची श्रद्धांजलि होगी

अहमदाबाद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीरा बा मोदी का शुक्रवार को निधन हो गया. वे 100 साल की थीं. वहीं प्रधानमंत्री मोदी की मां हीरा बा के निधन पर मोदी परिवार की तरफ से लोगों को अपील की गई है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार परिवार की ओर से कहा गया है कि मुश्किल वक्त में साथ रहने के लिए शुक्रिया. बा को श्रद्धांजलि देते हुए पहले से तय अपने काम आप लोग जारी रखें. यही हीरा बा को सच्ची श्रद्धांजलि होगी. 

पुत्र के कंधों पर मां की अंतिम यात्रा सचमुच बेहद भावुक कर देने वाला पल है. जब प्रधानमंत्री मोदी ने मां की अर्थी को कंधा दिया. इससे पहले छोटे भाई पंकज मोदी के घर से अंतिम यात्रा निकली. प्रधानमंत्री मोदी ने नंगे पांव कंधा देते हुए अंतिम विदाई की. कुछ देर में गांधीनगर में हीरा बा का अंतिम संस्कार होगा. मोदी की मां हीराबा के निधन पर देशभर में शोक की लहर है. उसके बाद अब हीराबेन के पार्थिव शरीर को शव वाहिनी से गांधीनगर के सेक्टर 30 स्थित श्मशान भूमि ले जाया जा रहा है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी मां हीराबेन को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शुक्रवार को कहा कि ‘‘मां में मैंने हमेशा उस त्रिमूर्ति की अनुभूति की है, जिसमें एक तपस्वी की यात्रा, निष्काम कर्मयोगी का प्रतीक और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध जीवन समाहित रहा है.’’ प्रधानमंत्री की मां हीराबेन का शुक्रवार को अहमदाबाद के एक अस्पताल में निधन हो गया . वह 99 वर्ष की थीं.

हीराबेन मोदी ने तड़के साढ़े तीन बजे अंतिम सांस ली: 
उन्हें बुधवार को तबीयत खराब होने के बाद अहमदाबाद के यूएन मेहता इंस्टीट्यूट आफ कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर में भर्ती कराया गया था. अस्पताल की ओर से जारी एक बुलेटिन में उनके निधन की सूचना दी गई. मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, ‘‘ हीराबेन मोदी ने यूएन मेहता हार्ट हास्पिटल में इलाज के दौरान 30 दिसंबर 2022 को तड़के साढ़े तीन बजे अंतिम सांस ली. ’’

और पढ़ें