गुवाहाटी IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका को 16 रन से मात देने के बाद बोले रोहित शर्मा- आखिरी ओवरों की गेंदबाजी में सुधार की जरूरत

IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका को 16 रन से मात देने के बाद बोले रोहित शर्मा- आखिरी ओवरों की गेंदबाजी में सुधार की जरूरत

IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका को 16 रन से मात देने के बाद बोले रोहित शर्मा- आखिरी ओवरों की गेंदबाजी में सुधार की जरूरत

गुवाहाटी: बड़े स्कोर वाले दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय में दक्षिण अफ्रीका को 16 रन से मात देकर तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त बनाने के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने रविवार को यहां कहा कि टीम को आखिरी ओवरों की गेंदबाजी पर ध्यान देने की जरूरत है.

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सूर्यकुमार यादव की 22 गेंद में 61 रन और लोकेश राहुल की 28 गेंद में 57 की पारियों के दम पर तीन विकेट पर 237 रन बनाने के बाद दक्षिण अफ्रीका को तीन विकेट पर 216 रन पर रोक दिया. दक्षिण अफ्रीका के लिए डेविड मिलर की 47 गेंद में नाबाद 106 रन की पारी खेली. भारतीय टीम को एक बार फिर जसप्रीत बुमराह की कमी खली क्योंकि दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी दो ओवरों में 46 रन बनाये.

जसप्रीत बुमराह की चोट हमारे लिए चिंता करने वाली बात:
मैच के बाद पुरस्कार समारोह में रोहित ने कहा कि जाहिर है जसप्रीत बुमराह की चोट हमारे लिए चिंता करने वाली बात है. हमें आखिरी ओवरों की गेंदबाजी पर ध्यान देने की जरूरत है उन्होंने कहा कि यह एक ऐसा पहलू है जहां हमें चुनौतियों का सामना करना होगा. इस लिए हम बल्ले से कुछ अतिरिक्त रन जुटाने की कोशिश करते हैं. उन्होंने सूर्यकुमार यादव के बारे में पूछे जाने पर हंसते हुए मजाकिया लहजे कहा कि उनकी बल्लेबाजी की लय को देखते हुए हम सोच रहे की अब उन्हें 23 अक्टूबर को ही मैदान पर उतारा जाये.

लोकेश राहुल ने मैन ऑफ द मैच पुरस्कार पर आश्चर्य व्यक्त किया: 
भारतीय टीम को टी20 विश्व कप में 23 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ अपने अभियान को शुरू करना है. लोकेश राहुल ने मैन ऑफ द मैच पुरस्कार के लिए चुने जाने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि यह पुरस्कार पाकर आश्चर्यचकित हूं. इस मैच में सूर्यकुमार ने अपनी बल्लेबाजी से ज्यादा प्रभावित किया. उन्होंने अपनी बल्लेबाजी के बारे में पूछे जाने पर कहा कि एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर टीम की जरूरत को समझना बेहद जरूरी है. यह समझना जरूरी है कि आखिर किन परिस्थिति में किस तरह की बल्लेबाजी करनी है. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें