नई दिल्ली नागरिक सुविधाओं में सुधार के लिये केंद्र, प्रधानमंत्री मोदी के आशीर्वाद की जरूरत : केजरीवाल

नागरिक सुविधाओं में सुधार के लिये केंद्र, प्रधानमंत्री मोदी के आशीर्वाद की जरूरत : केजरीवाल

नागरिक सुविधाओं में सुधार के लिये केंद्र, प्रधानमंत्री मोदी के आशीर्वाद की जरूरत : केजरीवाल

नई दिल्ली: एमसीडी चुनावों में आम आदमी पार्टी (आप) की जीत के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों का शुक्रिया अदा किया और नागरिक सुविधाओं में सुधार के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के साथ-साथ केंद्र और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 'आशीर्वाद' मांगा. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं और नवनियुक्त पार्षदों को आगाह करते हुए अहंकार नहीं करने के लिए कहा. उन्होंने कहा कि अहंकार सब कुछ बर्बाद कर देता है.

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव में सभी 250 सीट के परिणाम घोषित कर दिये गये हैं. राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक ‘आप’ ने 134 तो भाजपा ने 104 और कांग्रेस ने नौ सीट पर जीत दर्ज की. चुनाव में तीन निर्दलीय उम्मीदवार भी विजयी रहे. ‘आप’ की इस जीत से एमसीडी में भाजपा का 15 साल का शासन भी खत्म हो गया.

एग्जिट पोल में भाजपा को तगड़ा झटका लगने का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया था, हालांकि उसने आप को अच्छी टक्कर दी और 104 वार्ड में जीत हासिल की. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि अहंकार ने कई सरकारों को गिराया है. आप के सभी मंत्री, विधायक और पार्षद अहंकारी न बनें. जिस दिन आप अपने अहंकार को हावी होने देंगे, उस दिन आप पतन देखेंगे. भगवान आपको कभी माफ नहीं करेगा.

‘आप’ के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने बुधवार को यहां भारत को दुनिया का नंबर एक देश बनाने के लिए देश में सकारात्मक राजनीति की वकालत की. केजरीवाल ने यहां राउज एवेन्यू स्थित आप मुख्यालय में पार्टी की जीत के बाद अपने संबोधन में कहा कि हम सभी को दिल्ली की हालत सुधारनी है और मुझे भाजपा और कांग्रेस सहित सभी के सहयोग की आवश्यकता है. हमें ऐसा करने के लिए सभी के सहयोग की जरूरत है, खासकर केंद्र और प्रधानमंत्री की मदद और आशीर्वाद की.

पार्टी कार्यालय में लाउडस्पीकर से देशभक्ति के गीतों की गूंज के बीच सुबह से ही जश्न का माहौल था और समूचा परिसर रंग-बिरंगे गुब्बारों से सजा हुआ था. पार्टी मुख्यालय में जीत के जश्न में पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी मौजूद रहे. (भाषा) 

और पढ़ें