PM मोदी ने किया देश में कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज, कहा- वैक्सीन के दो डोज लगाना है जरूरी, गलती मत करना

PM मोदी ने किया देश में कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज, कहा- वैक्सीन के दो डोज लगाना है जरूरी, गलती मत करना

PM मोदी ने किया देश में कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज, कहा- वैक्सीन के दो डोज लगाना है जरूरी, गलती मत करना

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल संबोधन के जरिए देश में कोरोना टीकाकरण अभियान का आगाज कर दिया है. उन्होंने कहा कि आज के दिन का बेसब्री से इंतजार था. कोरोना की वैक्सीन आ गई है. मोदी ने कहा कि वैक्सीन बनाने वालों ने कड़ी मेहनत की है. पीएम ने कहा कि उन्होंने न त्योहार की चिंता की न घर छुट्टी मनाने गए. पीएम ने कहा कि ऐसे ही दिन के लिए राष्ट्रकवि दिनकर ने कहा था कि मानव जब जोर लगाता है तो पत्थर पानी बन जाता है.  

पहले चरण में तीन करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगेगा: 
पीएम मोदी ने कहा कि जिन लोगों को कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा रिस्क है उन्हें सबसे पहले टीका लगेगा. पीएम मोदी ने कहा कि पहले चरण में तीन करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगेगा. वहीं इसका खर्च भी भारत सरकार उठाएगी. उन्होंने कहा कि इतिहास में इतने बड़े स्तर का टीकाकरण अभियान पहले कभी नहीं चलाया गया है. पीएम ने कहा कि दुनिया के 100 से भी ज्यादा ऐसे देश हैं जिनकी जनसंख्या 3 करोड़ से कम है. वहीं भारत टीकाकरण के अपने पहले चरण में ही 3 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगा रहा है.

कोरोना वैक्सीन की 2 डोज लगनी बहुत जरूरी: 
पीएम मोदी ने कहा कि मैं ये बात फिर याद दिलाना चाहता हूं कि कोरोना वैक्सीन की 2 डोज लगनी बहुत जरूरी है. पहली और दूसरी डोज के बीच, लगभग एक महीने का अंतराल भी रखा जाएगा. दूसरी डोज़ लगने के 2 हफ्ते बाद ही आपके शरीर में कोरोना के विरुद्ध ज़रूरी शक्ति विकसित हो पाएगी. पीएम ने कहा कि जैसा धैर्य आपने कोरोना काल में दिखाया था, वैसा ही धैर्य आप वैक्सीनेशन के समय भी दिखाएं. पीएम ने कहा कि वैक्सीनेशन के बाद भी शारीरिक दूरी और मास्क जरूरी होगा. 

दूसरे चरण में 30 करोड़ लोगों के लगाया जाएगा टीका:
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि दूसरे चरण में टीकाकरण अभियान को 30 करोड़ की संख्या तक ले जाना है. जो बुजुर्ग हैं, जो गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं, उन्हें इस चरण में टीका लगेगा. आप कल्पना कर सकते हैं, 30 करोड़ की आबादी से ऊपर दुनिया के सिर्फ तीन ही देश हैं. इनमें भारत के अलावा चीन और अमेरिका हैं.

और पढ़ें