उत्तराखंड पर ध्यान केंद्रित करने के लिए पंजाब कांग्रेस की जिम्मेदारी से मुक्त होना चाहते हैं रावत

उत्तराखंड पर ध्यान केंद्रित करने के लिए पंजाब कांग्रेस की जिम्मेदारी से मुक्त होना चाहते हैं रावत

उत्तराखंड पर ध्यान केंद्रित करने के लिए पंजाब कांग्रेस की जिम्मेदारी से मुक्त होना चाहते हैं रावत

चंडीगढ़: उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव का हवाला देते हुए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि वह चाहते हैं कि उन्हें कांग्रेस के पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए. 

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी की चुनाव अभियान समिति के प्रमुख रावत ने कहा कि उनके मन में यह था कि राज्य विधानसभा चुनाव पर पूरा ध्यान लगाने के लिए वह पंजाब प्रदेश कांग्रेस की जिम्मेदारी से मुक्त किये जाने का आग्रह करेंगे. यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने उत्तराखंड विधानसभा चुनाव पर ध्यान केंद्रित करने के लिए पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त किये जाने की मांग की है तो उन्होंने गुरुवार को देहरादून में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हां, यही कारण है. 

साथ ही, उन्होंने कहा कि पार्टी जो भी फैसला करेगी, उसका वह पालन करेंगे.रावत ने कहा कि अगर मेरी पार्टी कहती हैं आप इसे (पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी) जारी रखें तो मैं इस जिम्मेदारी का निवर्हन करता रहूंगा. 

उल्लेखनीय है कि पंजाब और उत्तराखंड में अगले साल फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव होना है.  पंजाब में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच रिश्तों में कड़वाहट के कारण पिछले कुछ महीनों में कई बार विवाद खड़ा हुआ है. रावत के करीबियों का कहना है कि पंजाब कांग्रेस में विवाद को सुलझाने के प्रयास में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अपने राज्य में पूरा ध्यान नहीं दे पा रहे हैं, जबकि वह कांग्रेस की ओर से उत्तराखंड कें सबसे बड़े चेहरे हैं. सोर्स-भाषा

और पढ़ें