मेलबर्न पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच से पहले ऋषभ पंत ने याद किए खास पल, बोले- वास्तव में मेरे रोंगटे खड़े हो गए थे; विराट को लेकर दिया बड़ा बयान

पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच से पहले ऋषभ पंत ने याद किए खास पल, बोले- वास्तव में मेरे रोंगटे खड़े हो गए थे; विराट को लेकर दिया बड़ा बयान

पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच से पहले ऋषभ पंत ने याद किए खास पल, बोले- वास्तव में मेरे रोंगटे खड़े हो गए थे; विराट को लेकर दिया बड़ा बयान

मेलबर्न: स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का कहना है कि विराट कोहली (Virat Kohli) का अपार अनुभव दबाव की स्थिति से निपटने में मदद करता है. पंत ने साथ ही उम्मीद जताई कि वे पाकिस्तान के खिलाफ रविवार को यहां होने वाले टी20 विश्व कप के टीम के पहले मैच में पूर्व कप्तान कोहली के साथ अपनी बल्लेबाजी साझेदारी फिर बना पाएंगे.

टी20 विश्व कप की वेबसाइट ने पंत के हवाले से कहा कि वह (कोहली) वास्तव में आपको सिखा सकते हैं कि परिस्थितियों से कैसे निपटना है जिससे भविष्य में आपको अपने क्रिकेट सफर में मदद मिल सकती है. इसलिए उनके साथ बल्लेबाजी करना हमेशा की तरह अच्छा है. उन्होंने कहा कि बहुत अनुभव रखने वाले व्यक्ति का आपके साथ बल्लेबाजी करना अच्छा है क्योंकि वह आपको खेल को आगे बढ़ाने और प्रत्येक गेंद में एक रन के साथ दबाव को बनाए रखने के तरीके के बारे में बता सकता है.

मोहम्मद रिजवान और बाबर आजम के नाबाद अर्धशतकों से पाकिस्तान ने पिछले साल टी20 विश्व कप में भारत को 10 विकेट से हरा दिया था. भारत ने सात विकेट पर 151 रन बनाए थे लेकिन पाकिस्तान ने बिना कोई विकेट खोए लक्ष्य हासिल कर लिया था. पच्चीस साल के पंत ने 39 रन की पारी खेलने के अलावा तत्कालीन कप्तान कोहली के साथ 53 रन जोड़े थे.

पाकिस्तान के खिलाफ खेलना हमेशा विशेष:
पंत ने कहा कि मुझे याद है कि मैंने हसन अली के एक ही ओवर में दो छक्के मारे थे. हम सिर्फ रन गति बढ़ाने की कोशिश कर रहे थे क्योंकि हमने शुरुआती विकेट खो दिए थे और हमने साझेदारी की थी- मैंने और विराट ने. इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा कि हम रन गति बढ़ा रहे थे और मैंने उसे एक हाथ से दो छक्के मारे... मेरा विशेष शॉट. चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के साथ खेलने के अनुभव के बारे में पंत ने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ खेलना हमेशा विशेष होता है क्योंकि उस मैच के आसपास हमेशा की तरह एक विशेष तरह की हाइप होती है.

जब हम राष्ट्रगान गा रहे थे तो वास्तव में मेरे रोंगटे खड़े हो गए थे:
उन्होंने कहा कि न केवल हमारे लिए बल्कि प्रशंसकों और सभी के लिए बहुत सारी भावनाएं जुड़ी होती हैं. यह एक अलग तरह की भावना है, जब आप मैदान पर कदम रखते हैं तो एक अलग तरह का माहौल होता है और आप लोगों को हौसलाअफजाई करते हुए देखते हैं. पंत ने कह कि यह एक अलग माहौल था और जब हम राष्ट्रगान गा रहे थे तो वास्तव में मेरे रोंगटे खड़े हो गए थे. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें