UP Elections 2022: रघुराज प्रताप सिंह बोले, विधानसभा चुनाव में पार्टी सौ से अधिक सीटों पर लड़ेगी चुनाव

UP Elections 2022: रघुराज प्रताप सिंह बोले, विधानसभा चुनाव में पार्टी सौ से अधिक सीटों पर लड़ेगी चुनाव

UP Elections 2022: रघुराज प्रताप सिंह बोले, विधानसभा चुनाव में पार्टी सौ से अधिक सीटों पर लड़ेगी चुनाव

नोएडा: जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने कहा कि उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी सौ से अधिक सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारकर मजबूती से चुनाव लड़ेगी, लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारा जाएगा. सेक्टर-46 के बरात घर में जनसेवा संकल्प यात्रा के समापन अवसर पर आयोजित जनसभा को संबोधित करने से पूर्व पत्रकारों से वार्ता करते हुए राजा भैया ने कहा कि वर्ष 2018 में पार्टी की स्थापना हुई थी लेकिन कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से जनता से उस वक्त संवाद स्थापित नहीं हो पाया था.

उन्होंने कहा कि कोविड का प्रकोप कम होने पर अब पार्टी जन सेवा संकल्प यात्रा के माध्यम से जनता से सीधा संवाद स्थापित कर रही है. उन्होंने बताया कि तीसरे चरण की यात्रा आगरा से शुरू हुई जिसका समापन नोएडा में हुआ है. राजा भैया ने कहा कि इस यात्रा का उद्देश्य कार्यकर्ताओं और समर्थकों से सीधे संवाद के साथ-साथ प्रदेश की जनता से पार्टी प्रत्याशियों के लिए आशीर्वाद लेना भी है. उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी ने अभी तक 100 से अधिक सीटें चिन्हित की हैं जिन पर जल्द प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर दी जाएगी. पार्टी पूर्वांचल, पश्चिम व बुंदेलखंड में मजबूती से चुनाव लड़ेगी. उन्होंने अभी तक किसी भी राजनीतिक पार्टी से गठबंधन होने की बात से इनकार करते हुए कहां की भविष्य में जैसी स्थितियां बनेंगी तब उन पर विचार किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि पार्टी किसानों, नौजवानों सहित अन्य स्थानीय मुद्दों पर चुनाव लड़ेगी. एक सवाल के जवाब में उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ पार्टी का प्रत्याशी उतारे जाने से साफ इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री के साथ साथ गोरक्ष पीठ के पीठाधीश्वर भी हैं. इस पीठ से उनके पूर्वजों का पुराना रिश्ता है और यह पीठ उनके लिए श्रद्धा और आस्था का केंद्र है, इसलिए वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने किसी प्रत्याशी को आगामी विधानसभा चुनाव में नहीं उतारेंगे. सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें