नौकरी के बदले जमीन मामले में ED ने लालू प्रसाद की बेटी चंदा यादव से की पूछताछ

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रेलवे में कथित नौकरी के बदले जमीन घोटाले से जुड़े धन शोधन के एक मामले में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख लालू प्रसाद की बेटी चंदा यादव का बृहस्पतिवार को बयान दर्ज किया. सूत्रों ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि चंदा यादव एजेंसी के समक्ष पेश हुईं और धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत उन्होंने अपना बयान दर्ज कराया. लालू प्रसाद के नौ बच्चों में से अभी तक चार बच्चों के ईडी बयान दर्ज कर चुकी है. ईडी ने बुधवार को उनकी बेटी रागिनी यादव और मीसा भारती से पूछताछ की थी. लालू के बेटे एवं बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से भी मध्य दिल्ली में एजेंसी के कार्यालय में पूछताछ की गई है.

ईडी ने 25 मार्च को इस मामले में पूछताछ की थी:
एजेंसी ने मार्च में चंदा यादव, उनकी बहनों रागिनी यादव और हेमा यादव और पूर्व राजद विधायक अबू दोजाना के पटना, फुलवारी शरीफ, दिल्ली-एनसीआर (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र), रांची और मुंबई स्थित परिसरों पर छापेमारी भी की है. ईडी ने मामले में सोमवार को तेजस्वी यादव से पूछताछ कर उनका बयान दर्ज किया था. तेजस्वी यादव की बहन एवं सांसद मीसा भारती से भी ईडी ने 25 मार्च को इस मामले में पूछताछ की थी, उसी दिन तेजस्वी सीबीआई के समक्ष पेश हुए थे.

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से पूछताछ की:
दोनों केंद्रीय एजेंसियों ने हाल ही में मामले में कार्रवाई शुरू की. सीबीआई ने लालू प्रसाद और उनकी पत्नी एवं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से पूछताछ की, जबकि ईडी ने राजद प्रमुख के परिवार के खिलाफ जांच के सिलसिले में कई स्थानों पर छापेमारी की है. यह मामला लालू प्रसाद के 2004 से 2009 के बीच रेल मंत्री रहने के दौरान उनके परिवार को कथित तौर पर उपहार में दी गई या बेची गई जमीन के बदले रेलवे में की गई नियुक्तियों से जुड़ा है. सोर्स-भाषा