सरकार महिलाओं को स्मार्टफोन के बदले एक निश्चित नकद राशि देने पर विचार कर रही- CM गहलोत

भरतपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को कहा कि सरकार अगस्त में रक्षा बंधन पर शुरू होने जा रही योजना के तहत महिलाओं को स्मार्टफोन के बदले एक निश्चित नकद राशि देने पर विचार कर रही है.

गौरतलब है कि गहलोत ने बजट 2021 में राज्य की 1.35 करोड़ महिलाओं को स्मार्टफोन देने की घोषणा की थी. कुछ समय पहले उन्होंने इस साल 30 अगस्त को रक्षाबंधन से चरणबद्ध तरीके से स्मार्टफोन देने की बात भी कही थी. मुख्यमंत्री ने आज यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि सरकार महिलाओं को स्मार्टफोन देने के बजाय उनकी पसंद का मोबाइल फोन खरीदने के लिए एक निश्चित राशि देने पर विचार कर रही है.

 

उन्होंने कहा कि अलग-अलग स्पेसिफिकेशंस के साथ कई तरह के फोन होते हैं और हर कोई अपनी पसंद का फोन ही खरीदता है. उन्होंने कहा कि मोबाइल एक ऐसी चीज है, जिसे आप बाजार में खरीदने जाएंगे तो आपको अपनी पसंद का मिल जाएगा… कितने जीबी का खरीदना है… कौन सा ब्रांड खरीदना है… कौन सा मॉडल खरीदना है. हम कंपनियों से बात करने की कोशिश कर रहे हैं कि वे महंगाई राहत शिविर जैसे काउंटर स्थापित करें और लोगों को विकल्प दें.

स्मार्टफोन देने का मकसद महिला सशक्तिकरण: 
गहलोत ने कहा कि सरकार महिलाओं को फोन खरीदने के लिए एक निश्चित राशि (उनके बैंक खाते में) देने पर विचार कर रही है. उन्होंने बताया कि कितनी राशि दी जाए इस पर चर्चा की जा रही है. गहलोत ने कहा कि स्मार्टफोन देने का मकसद महिला सशक्तिकरण है.