मल्लिकार्जुन खड़गे बोले, चीन का मुकाबला एकजुट होकर रणनीतिक रूप से किया जाना चाहिए

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने उत्तराखंड में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के निकट चीन द्वारा निर्माण कार्य किए जाने संबंधी खबर को लेकर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि चीन का मुकाबला एकजुट होकर रणनीतिक तौर पर किया जाना चाहिए. उन्होंने उत्तराखंड में एलएसी से लगे इलाकों में चीन द्वारा कथित तौर पर निर्माण कार्य किए जाने की उपग्रह से ली गई कुछ तस्वीरें ट्विटर पर साझा कीं और आरोप लगाया कि 'प्रधानमंत्री मोदी द्वारा चीन को क्लीन चिट दिए जाने के कारण देश को भारी कीमत चुकानी पड़ रही है. 

उन्होंने ट्वीट किया,अब उत्तराखंड में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के निर्माण कार्य करने से हमारी भूभागीय अखंडता पर अतिक्रमण किया जा रहा है. प्रधानमंत्री मोदी द्वारा चीन को क्लीनचिट दिए जाने की देश भारी कीमत चुका रहा है. चीन का मुकाबला मिलकर रणनीतिक रूप से करना चाहिए, न कि शेखी बघार कर. उल्लेखनीय है कि भारत ने पूर्वी लद्दाख में सीमा पर स्थिति सामान्य नहीं होने तक चीन के साथ संबंधों के सामान्य होने की बात को निराधार करार देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में अमन और शांति होने पर ही बीजिंग के साथ संबंधों में प्रगति हो सकती है.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दोनों देशों के बीच संबंधों में सैनिकों की अग्रिम मोर्चे पर तैनाती को मुख्य समस्या करार दिया.केंद्र में नरेन्द्र मोदी सरकार के कार्यकाल के नौ वर्ष पूरे होने के अवसर पर जयशंकर ने बृहस्पतिवार को संवाददाताओं से कहा था, भारत भी चीन के साथ संबंधों को बेहतर बनाना चाहता है लेकिन यह केवल तभी संभव है जब सीमावर्ती क्षेत्रों में अमन और शांति हो. सोर्स भाषा