नई दिल्ली 16 मार्च का इतिहास: आज के दिन सचिन ने एशिया कप में बनाया शतकों का शतक

16 मार्च का इतिहास: आज के दिन सचिन ने एशिया कप में बनाया शतकों का शतक

16 मार्च का इतिहास: आज के दिन सचिन ने एशिया कप में बनाया शतकों का शतक

नई दिल्ली: मार्च का महीना क्रिकेट से जुड़ी कई बड़ी घटनाओं के साथ इतिहास में दर्ज है. 16 मार्च भी क्रिकेट के लिए ऐसा ही एक ऐतिहासिक दिन है. भारत में क्रिकेट को एक धर्म की तरह माना जाता है और सचिन तेंदुलकर किसी भगवान से कम नहीं हैं. सोलह मार्च, 2012 वह दिन है जब सचिन ने एशिया कप के एक मुकाबले में बांग्लादेश के खिलाफ खेलते हुये मीरपुर स्थित शेर-ए-बंगाल स्टेडियम में सैकड़ा जड़कर एक अभूतपूर्व रिकॉर्ड अपने नाम किया था. 

दरअसल एकदिवसीय क्रिकेट में सचिन का यह 49वां शतक था और टेस्ट क्रिकेट में वह 51 शतक पहले ही लगा चुके थे. इस तरह मास्टर ब्लास्टर ने शतकों का शतक पूरा किया. भारत रत्न से सम्मानित सचिन यह कीर्तिमान रचने वाले दुनिया के अकेले बल्लेबाज हैं. इस मुकाम तक अभी कोई नहीं पहुंचा है.

लगाकर भी अपनी टीम को हार से नहीं बचा पाए:
यह भी अजब इत्तफाक है कि क्रिकेट के खेल में एक समय सबसे धीमा दोहरा शतक ओर सबसे तेज दोहरा शतक बनाने का इतिहास भी 16 मार्च के नाम था. धीमा दोहरा शतक जहां भारत के सलामी बल्लेबाज नवजोत सिंह सिद्धू ने 1997 में वेस्टइंडीज के तूफानी गेंदबाजों का मुकाबला करते हुए बनाया वहीं सबसे तेज दोहरा शतक 2002 में न्यूजीलैंड के नाथन एस्टल ने इंग्लैंड के खिलाफ 163 गेंद में पूरा किया. हालांकि सबसे दिलचस्प बात यह है कि सिद्धू सबसे धीमा दोहरा शतक जमाकर भी मैच के हीरो बन गए जबकि एस्टल सबसे तेज दोहरा शतक लगाकर भी अपनी टीम को हार से नहीं बचा पाए.

देश-दुनिया के इतिहास में 16 मार्च की तारीख पर दर्ज कुछ अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:-

1527: बाबर ने खानवा के युद्ध में राणा सांगा को हराया.

1693: इंदौर के होल्कर वंश के संस्थापक मल्हारराव होलकर का जन्म.

1846: प्रथम अंग्रेज-सिख युद्ध के फलस्वरूप अमृतसर संधि पर हस्ताक्षर.

1901: स्वतन्त्रता सेनानी पी श्रीरामुलु का जन्म.

1910: इफ्तिखार अली खान पटौदी का जन्म. उन्होंने भारत और इंग्लैंड, दोनों के लिए क्रिकेट खेला.

1997: नवजोत सिंह सिद्धू ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलते हुए अपने टेस्‍ट करियर का एकमात्र दोहरा शतक लगाया. उन्होंने 673 मिनट तक बल्‍लेबाजी करते हुए 201 रन की पारी खेली जो उस समय क्रिकेट इतिहास में सबसे धीमे दोहरे शतक के तौर पर दर्ज हो गई.

 2000: पाकिस्तान में लाहौर की एक अदालत ने जावेद इकबाल को मौत की सजा सुनाई, जिसने 6 से 16 साल की उम्र के बच्चों के साथ दरिंदगी के बाद उनकी हत्या कर दी और सबूत छिपाने के लिए उनके शवों को काट-काटकर तेजाब में डाला. अदालत ने जावेद को उसी तरह मारने का आदेश दिया था जैसे वह बच्चों को मारता था, लेकिन उसने सजा की तामील से पहले ही आत्महत्या कर ली.

2002: न्यूजीलैंड के नाथन एस्टल ने इंग्लैंड के खिलाफ खेलते हुए 163 गेंद में दोहरा शतक जमाकर टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज दोहरा शतक लगाने का रिकार्ड अपने नाम किया. सोर्स-भाषा

और पढ़ें