भारत में एक ही नहीं, बल्कि दो मिनी स्विट्जरलैंड ! प्रकृति की गोद में बसा शांघड़ गांव, ये हिल स्टेशन नहीं देखा तो कुछ नहीं देखा

हिमाचल प्रदेश: हरी भरी वादियां, रंग- बिरंगे छोटे घर, नदियां और झरने पर्यटकों का मन मोह लेती है. ये स्थान मिनी स्विट्जरलैंड के नाम से भी जाना जाता है. जी हां हम बात कर रहे है शांघड़ गांव की, जो हिमाचल के कुल्लू जिले की सैंज घाटी में स्थित है. इस स्थान पर पर्यटक एक बार चला जाता है, तो हर बार यहां पर जाने का मन करता है. कुछ ऐसी ही है यहां की वादियां. शांघड़ गांव में स्विट्जरलैंड जैसे मनमोहक नजारे देखने को मिलते है.

your imageये जगह धरती का स्वर्ग है. हिमाचल प्रदेश का ये गांव खूबसूरत ही नहीं, बेहद सुंदर है कि यहां पर दुनियाभर से पर्यटक आते रहते है.  शांघड़ गांव की प्राकृतिक सुंदरता और खूबसूरत वादियों की वजह से इस गांव को मिनी स्विट्जरलैंड के नाम से भी पुकारा जाता है. वैसे तो एक मात्र मिनी स्विट्जरलैंड नहीं, बल्कि उत्तराखंड के औली हिल स्टेशन उसकी सुंदरता की वजह से मिनी स्विट्जरलैंड का दर्जा दिया जाता है.

your imageउसी तरह से सैंज घाटी का ये गांव भी मिनी स्विट्जरलैंड कहलाता है. ये गांव जो एक खूबसूरत हिल स्टेशन भी है, सीक्रेट डेस्टिनेशन कहलाता है और पर्यटकों के बीच पॉपुलर है. इस गांव का नाम है शांघड़ गांव. आपको बता दें कि शांघड़ गांव बेहद सुंदर और प्रकृति की गोद में बसा हुआ है.  हर वर्ष यहां पर लाखों पर्यटक सैर करने के लिए आते है. जिस तरह से हिमाचल का खज्जियार हिल स्टेशन टूरिस्टों का मन मोह लेता है,उसी तरह से शांघड़ गांव भी टूरिस्टों को मंत्रमुग्ध कर देता है. अगर आप प्रकृति प्रेमी हैं, तो आपको एक बार शांघड़ की सैर जरूर करनी चाहिए. शांघड़ को कुल्लू का खज्जियार भी कहा जाता है. चलो अब आपको बताते है वो ​स्थान जो शांघड़ गांव की खूबसूरती को ओर भी बढा देते है. यहां पर बरशानगढ़ झरना और शंगचुल महादेव मंदिर के आप दर्शन कर सकते है.