Live News »

राजसमंद ACB की बड़ी कार्रवाई, सेंट्रल GST विभाग का अधीक्षक ट्रैप, 15 हजार की रिश्वत लेते किया ट्रैप 

राजसमंद: एसीबी ने रिश्वत लेते सेंट्रल GST विभाग के अधीक्षक को ट्रैप किया है. मामला राजस्थान के राजसमंद जिले का है. जहां पर सेंट्रल GST विभाग के अधीक्षक को रिश्वत लेते  ट्रैप किया गया है. राजसमंद ACB ने बड़ी कार्रवाई करते हुए सेंट्रल GST विभाग के अधीक्षक श्यामसुंदर जैन को 15 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप किया है.

अब गाजियाबाद ने भी सील की दिल्ली बॉर्डर, सिर्फ इमरजेंसी सेवा और पास वालों को एंट्री

ACB ASP राजेश चौधरी के नेतृत्व में हुई कार्रवाई:
श्यामसुंदर जैन ने ट्रक छोड़ने और कागजात लौटाने की एवज में रिश्वत मांगी थी. जिस पर कार्रवाई करते हुए ​एसीबी ने श्यामसुंदर जैन को रंगे हाथों पकडा है. ACB ASP राजेश चौधरी के नेतृत्व में कार्रवाई हुई है.ACB DG आलोक त्रिपाठी के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है.

सीकर में कोरोना विस्फोट, 30 नए केस आये सामने, जिला प्रशासन ने लोगों से की अपील, जरूरी हो तब ही घरों से निकले बाहर

और पढ़ें

Most Related Stories

महिला ने लगाया सरपंच पर दुष्कर्म करने का आरोप, मामला दर्ज

महिला ने लगाया सरपंच पर दुष्कर्म करने का आरोप, मामला दर्ज

अजमेर: जिले के किशनगंज थाना में एक महिला ने माकड़वाली सरपंच मदन सिंह रावत पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है. पीड़ित महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने भी मामला दर्ज कर लिया है.

VIDEO: राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में प्रमुखता से लिया जा रहा रघुवीर मीना का नाम,  First India ने की बात 

चार-पांच साल से दुष्कर्म करने का आरोप: 
थाना अधिकारी दिनेश कुमावत ने बताया कि महिला ने सरपंच महेंद्र सिंह रावत पर आरोप लगाया कि पिछले चार-पांच साल से सरपंच महेंद्र सिंह रावत ने उससे शादी करने की बात कह रहा है और लगातार उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता रहा लेकिन अब उसने शादी से मना कर दिया. मामले में पुलिस जांच कर रही है. 

हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने किया फेसबुक लाइव, 38 मिनट तक आमजन के सवालों के जवाब दिए, सुझाव पूछे

VIDEO: राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में प्रमुखता से लिया जा रहा रघुवीर मीना का नाम, First India ने की बात

VIDEO: राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में प्रमुखता से लिया जा रहा रघुवीर मीना का नाम, First India ने की बात

जयपुर: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद पर बदलाव की चर्चाओ के बीच रेस में रघुवीर मीना का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है. रघुवीर मीना इस समय कांग्रेस सी डब्लू सी के सदस्य है. गहलोत सरकार में मंत्री, उदयपुर से लोकसभा सांसद, युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष समेत कई पदों पर वो रह चुके हैं.

सीएम के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव, मुख्य सचेतक महेशी जोशी ने दी प्रतिक्रिया, कहा-BJP ने उठाया ये बौखलाहट में कदम  

मुझे जो दायित्व मिलेगा उसे ईमानदारी से निभाऊंगा: 
फर्स्ट इंडिया से बातचीत में रघुवीर मीना ने कहा कि जो दायित्व पार्टी नेतृत्व देगा उसे निभाऊंगा मैं तो एक साधारण कार्यकर्ता हूं ,सी एम गहलोत को बीजेपी की ओर से दिये विशेषाधिकार नोटिस पर भी उन्होंने विपक्षी दल को आड़े हाथ लिया है. रघुवीर मीना से फर्स्ट इंडिया न्यूज ने खास बात की...

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 6 मौत, 611 नए पॉजिटिव केस, अकेले अलवर में मिले सर्वाधिक 126 पॉजिटिव मरीज 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 6 मौत, 611 नए पॉजिटिव केस, अकेले अलवर में मिले सर्वाधिक 126 पॉजिटिव मरीज 

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. पिछले 24 घंटे में 6 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 611 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. बीकानेर में 3, अजमेर,भरतपुर व सवाई माधोपुर में 1-1 मरीजों की मौत हो गई. 

अलवर में मिले सर्वाधिक 126 कोरोना पॉजिटिव मरीज:
प्रदेश के अलवर जिले में सर्वाधिक 126 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है. अजमेर- 36, बाड़मेर- 49, भरतपुर- 25, बीकानेर- 35, बूंदी- 2 पॉजिटिव, चित्तौडगढ़- 2, चूरू- 15,धौलपुर- 9, डूंगरपुर- 2, श्रीगंगानगर- 4 पॉजिटिव, हनुमानगढ़- 13, जयपुर- 46, जालोर- 5, झालावाड़- 1, झुंझुनूं- 7 पॉजिटिव, जोधपुर- 114,करौली- 6, कोटा- 7, नागौर- 12, पाली- 71, राजसमंद- 4 पॉजिटिव, सवाईमाधोपुर- 3, सीकर- 8, सिरोही- 5,  टोंक- 1, उदयपुर- 3 पॉजिटिव मरीज मिले है. राजस्थान में कोरोना की वजह से अब तक 497 मरीजों की मौत हो गई. जबकि कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 23 हजार 174 पहुंच गई.

राज्यसभा चुनाव खरीद फरोख्त प्रकरण पर लेटेस्ट अपडेट! SOG ने दो मोबाइल नंबरों की जांच के बाद दर्ज किया मुकदमा

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए 17 हजार 620 मरीज:
प्रदेश में कुल 17 हजार 620 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. वहीं 17 हजार 272 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए है. वहीं बात करें कुल एक्टिव मरीजों की, तो प्रदेश में 5057 एक्टिव मरीज अस्पताल में उपचाररत है. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 5 हजार 922 पहुंच गई है.

डूंगरपुर पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 50 लाख रुपए की अवैध शराब जब्त, 3 आरोपी गिरफ्तार 

Rajasthan: राज्यसभा चुनाव के दौरान विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण में SOG ने दर्ज किया मुकदमा

Rajasthan: राज्यसभा चुनाव के दौरान विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण में SOG ने दर्ज किया मुकदमा

जयपुर: राज्यसभा चुनाव के बीस दिन बाद राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त का मामला फिर गरमा रहा है. आज SOG ने मुकदमा दर्ज किया है. राज्यसभा चुनाव से पहले मुख्य सचेतक महेश जोशी ने परिवाद दिया था. परिवाद की जांच में कुछ मोबाइल नंबर सामने आए थे. उन्हीं मोबाइल नंबरों की जांच के बाद SOG ने परिवाद को सही माना है. अब खुद SOG की ओर से ही मुकदमा दर्ज किया गया है. अब SOG के वरिष्ठ अधिकारी मामले की जांच करेंगे. 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी: 
गौरतलब है कि महेश जोशी ने राज्यसभा चुनाव के दौरान पुलिस महानिदेशक, एसीबी से एक आधिकारिक शिकायत की थी और उन बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी, जो धनबल के जरिए निर्दलीय विधायकों को लुभाने की कोशिश कर रहे थे. 

राजस्थान में सरकार को अस्थिर करने की कोशिश:
महेश जोशी ने डीजी कि एसीबी को संबोधित अपने पत्र में कहा था, 'हमें अपने विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि मध्यप्रदेश, गुजरात, कर्नाटक की तर्ज पर बीजेपी, कांग्रेस के विधायकों के साथ ही हमारी सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों को लालच देकर राजस्थान में सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रही है.

सीएम गहलोत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप: 
वहीं इससे पहले आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ भाजपा विधायक अशोक लाहोटी, सुभाष पूनिया, रामलाल शर्मा और निर्मल कुमावत ने विशेषाधिकार हनन का आरोप लगाया है. विधायकों ने इसको लेकर विधानसभा सचिव को पत्र सौंपा है. इस पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के भी हस्ताक्षर है. आरोप में मुख्यमंत्री के 35 करोड़ वाले बयान को कोट किया गया है. इस बारे में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कटारिया के कक्ष में एक बड़ी बैठक भी हुई है. 

सतीश पूनिया पर भी विशेषाधिकार हनन आरोप:
निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने भी बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया पर विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव पेश किया. लोढ़ा ने शिकायत में कहा है कि, सतीश पूनिया ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस की बाड़ेबंदी के दौरान 23 विधायकों को वोट के बदले खान, रिको प्लॉट देने और कैश ट्रांजैक्शन से लाभान्वित किया गया है. 

विधायक अनिता भदेल कोरोना पॉजिटिव, 2 दिन पहले आयीं थीं भाजपा प्रदेश कार्यालय 

21 जून को विधानसभा में दी थी शिकायत:
दरअसल, कांग्रेस सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय संयम लोढ़ा ने पूनिया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन की शिकायत 21 जून को विधानसभा में दी थी. विधानसभा सचिवालय ने अध्यक्ष के समक्ष फाइल पुटअप किया था. ऐसे में अब दोनों ही मामलों में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को फैसला करना है. 

जयपुर ACB की उदयपुर में बड़ी कार्रवाई, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का फाइनेंशियल एडवाइजर 2 लाख की रिश्वत लेते ट्रैप

जयपुर ACB की उदयपुर में बड़ी कार्रवाई, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का फाइनेंशियल एडवाइजर 2 लाख की रिश्वत लेते ट्रैप

उदयपुर: जयपुर एसीबी की टीम नें आज एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए उदयपुर स्मार्ट सिटी कंपनी लिमिटेड में कार्यरत वित्तीय सलाहकार आबिद खान और उनके एक दलाल को 2 लाख रुपये की रिश्वत राशि लेते रंगे हाथों ट्रेप कर लिया. दरअसल, एसीबी के एडीजी दिनेश एम. एन को उदयपुर के रहने वाले परिवादी प्रवीण नें शिकायत दी थी कि स्मार्ट सिटी कंपनी लिमिटेड उदयपुर का वित्तीय सलाहकार आबिद खान स्मार्ट सिटी कार्यों के बिलों को पास करने की एवज में 3 लाख रुपयें की रिश्वत मांग रहा हैं. 

विधायक अनिता भदेल कोरोना पॉजिटिव, 2 दिन पहले आयीं थीं भाजपा प्रदेश कार्यालय 

आरोपी ने कल 1 लाख रुपये की राशी ग्रहण कर ली थी: 
एसीबी की टीम द्धारा शिकायत के सत्यापन के दौरान आरोपी आबिद खान नें परिवादी से कल 1 लाख रुपये की राशी ग्रहण कर ली थी. जिसके बाद आज रिश्वत की शेष 2 लाख रुपये की राशि लेते आरोपी आबिद खान को एसीबी की टीम नें घर दबोचा. एसीबी की टीम फिलहाल आरोपी आबिद खान औऱ उसके दलाल से कड़ी पूछताछ कर रही हैं. यही नहीं ब्यूरो की टीम इस पूरे घटनाक्रम में शामिल अन्य लोगों से भी पड़ताल करेगी. 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

खेत में फव्वारा लाइन बदलते समय करंट लगने से मां-बेटे की मौत

खेत में फव्वारा लाइन बदलते समय करंट लगने से मां-बेटे की मौत

चूरू: जिले के बूटिया गांव में आज मां-बेटे की खेत में पानी के फव्वारे बदलते समय करंट लगने से मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बूटिया गांव का एक किसान परिवार अपने खेत में सिंचाई कर रहा था उसी दौरान जब पानी के फव्वारे की लाइन बदल रहे मां बेटे को करंट लगा और दोनों की मौत हो गई. 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

ट्रांसफार्मर के अर्थिंग से जमीन में आया करंट: 
खेत में लगे हुए ट्रांसफार्मर के अर्थिंग से जमीन में करंट आना प्रथम दृष्टया कारण माना जा रहा है जिससे फव्वारे की लाइन में भी करंट आया और लाइन बदलते समय यह हादसा हुआ है. सूचना मिलते ही सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के शव राजकीय डीबी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाये, बाद में शवों का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए हैं अब सदर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है.

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन 

जमीन विवाद में रिश्तों का खून, पुत्रों के साथ मिलकर चाचा ने की भतीजे की हत्या

जमीन विवाद में रिश्तों का खून, पुत्रों के साथ मिलकर चाचा ने की भतीजे की हत्या

चित्तौड़गढ़: जिले के कपासन थाना क्षेत्र के गांव उमण्ड में आज सुबह जमीन विवाद में रिश्तों का ही खून हो गया. एक ही परिवार में जमीन विवाद को लेकर खूनी संघर्ष हुआ और भूखंड के आपसी विवाद में हथियार और पत्थरों से एक दूसरे पर हमला बोल दिया. इस खूनी संघर्ष में चाचा ने अपने पुत्रों के साथ मिलकर अपने ही भतीजे की हत्या कर दी. गंभीर रूप से घायल हुए शंकरलाल धोबी की मौके पर ही दम तोड़ दिया.

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

पुलिस ने हत्या के सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया: 
घटना की सूचना मिलते ही कपासन डिप्टी एसपी दलपतसिंह भाटी, तहसीलदार शंकरलाल गुर्जर और कपासन थानाधिकारी हिमाशुं सिंह मौके पर पहुंचे. उसके बाद शव को कब्जे में लेकर कपासन अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है. इधर पुलिस ने हत्या के सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया है, बताया जा रहा कि गांव उमण्ड में एक ही परिवार के सरकारी जमीन पर वर्षों पुराने कब्जे थे और उन्ही कब्जों पर आज एक परिवार के लोग काम शुरू कर रहे थे इसी को लेकर दोनों में झगड़ा हो गया, पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप

जयपुर: राजस्थान में राज्यसभा चुनाव के बाद भी आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स परवान चढ़ती नजर आ रही है. अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ भाजपा विधायक अशोक लाहोटी, सुभाष पूनिया, रामलाल शर्मा और निर्मल कुमावत ने विशेषाधिकार हनन का आरोप लगाया है. विधायकों ने इसको लेकर विधानसभा सचिव को पत्र सौंपा है. इस पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के भी हस्ताक्षर है. 

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन 

मुख्यमंत्री के 35 करोड़ वाले बयान को किया गया कोट: 
ऐसे में अब आखिर विशेषाधिकार हनन बनता है या नहीं इस पर विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को फैसला करना है. आरोप में मुख्यमंत्री के 35 करोड़ वाले बयान को कोट किया गया है. इस बारे में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कटारिया के कक्ष में एक बड़ी बैठक भी हुई है. 

संयम लोढ़ा ने सतीश पूनिया पर लगाया था विशेषाधिकार हनन का आरोप:
वहीं इससे पहले निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने भी बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया पर विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव पेश किया. लोढ़ा ने शिकायत में कहा है कि, सतीश पूनिया ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस की बाड़ेबंदी के दौरान 23 विधायकों को वोट के बदले खान, रिको प्लॉट देने और कैश ट्रांजैक्शन से लाभान्वित किया गया है.

21 जून को विधानसभा में दी थी शिकायत:
दरअसल, कांग्रेस सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय संयम लोढ़ा ने पूनिया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन की शिकायत 21 जून को विधानसभा में दी थी. विधानसभा सचिवालय ने अध्यक्ष के समक्ष फाइल पुटअप किया था. ऐसे में अब दोनों ही मामलों में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को फैसला करना है. 

क्या है विशेषाधिकार हनन?
देश में विधानसभा, विधानपरिषद और संसद के सदस्यों के पास कुछ विशेष अधिकार होते हैं, ताकि वे प्रभावी ढंग से अपने कर्तव्यों को पूरा कर सके. जब सदन में इन विशेषाधिकारों का हनन होता है या इन अधिकारों के खिलाफ कोई कार्य किया जाता है, तो उसे विशेषाधिकार हनन कहते हैं. इसकी स्पीकर को की गई लिखित शिकायत को विशेषाधिकार हनन नोटिस कहते हैं.

कांग्रेस का 'मिशन पंचायत '! अदालती आदेशों के बाद पायलट कैंप सक्रिय

कैसे लाया जा सकता है विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव?
नोटिस के आधार पर स्पीकर की मंजूरी से सदन में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाया जा सकता है. विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव संसद के किसी सदस्य द्वारा पेश किया जाता है, जब उसे लगता है कि सदन में झूठे तथ्य पेश करके सदन के विशेषाधिकार का उल्लंघन किया गया है या किया जा रहा है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए सुनिल शर्मा रिपोर्ट

Open Covid-19