नई दिल्ली Delhi AQI: दिल्ली की हवा में सुधार के आसार नहीं, वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में बरकरार

Delhi AQI: दिल्ली की हवा में सुधार के आसार नहीं, वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में बरकरार

Delhi AQI: दिल्ली की हवा में सुधार के आसार नहीं, वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में बरकरार

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार सुबह वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई, जबकि न्यूनतम तापमान आठ डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो इस मौसम का अभी तक का सबसे कम तापमान है.

 

वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) सुबह नौ बजे 238 दर्ज किया गया. मंगलवार शाम चार बजे एक्यूआई 255 था. शून्य से 50 के बीच एक्यूआई ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 से 500 के बीच एक्यूआई ‘गंभीर’ माना जाता है.

वायु गुणवत्ता के और खराब होने के आसार नहीं:
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, आने वाले दिनों में दिल्ली में वायु गुणवत्ता के और खराब होने के आसार नहीं हैं. आईएमडी के मुताबिक, बुधवार को न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री कम आठ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. यह 23 नवंबर 2020 (6.2 डिग्री सेल्सियस) के बाद से नवंबर महीने में दर्ज किया गया सबसे कम तापमान है. मौसम विभाग ने अधिकतम तापमान के 26 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का पूर्वानुमान जताया है.

प्रतिबंधों को लागू करने की जरूरत नहीं:
वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने शुक्रवार को कहा था कि चरणबद्ध प्रतिक्रिया कार्रवाई योजना (जीआरएपी) के पहले और दूसरे चरण के तहत जारी प्रदूषण-रोधी कार्रवाई दिल्ली-एनसीआर (राष्ट्रीय राजनाधानी क्षेत्र) में बरकरार रहेगी और अभी तीसरे चरण के तहत प्रतिबंधों को लागू करने की जरूरत नहीं है. वायु गुणवत्ता में सुधार के मद्देनजर सीएक्यूएम ने 14 नवंबर को अधिकारियों को दिल्ली-एनसीआर में जीआरएपी के तीसरे चरण के तहत लागू प्रतिबंधों को रद्द करने का निर्देश दिया था, जिसमें आवश्यक परियोजनाओं के अलावा अन्य निर्माण एवं तोड़-फोड़ गतिविधियों पर प्रतिबंध शामिल है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें