चटगांव IND vs BAN: चोटों से परेशान भारतीय टीम का लक्ष्य बांग्लादेश को ‘क्लीन स्वीप’ से रोकना

IND vs BAN: चोटों से परेशान भारतीय टीम का लक्ष्य बांग्लादेश को ‘क्लीन स्वीप’ से रोकना

IND vs BAN: चोटों से परेशान भारतीय टीम का लक्ष्य बांग्लादेश को ‘क्लीन स्वीप’ से रोकना

चटगांव: खिलाड़ियों की चोटों और फिटनेस समस्याओं से परेशान भारतीय टीम शनिवार को बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे और आखिरी वनडे में उतरेगी तो उसका लक्ष्य मेजबान टीम को ‘क्लीन स्वीप’ से रोकने का होगा.

मेहदी हसन मिराज की दो शानदार पारियों के दम पर बांग्लादेश पहले दो मैच और श्रृंखला जीत चुका है लेकिन अब उसका इरादा भारत का सूपड़ा साफ करने का होगा और अगर ऐसा होता है तो बांग्लादेश क्रिकेट के लिये यह ऐतिहासिक होगा. इससे 14 दिसंबर से शुरू होने वाली टेस्ट श्रृंखला से पहले बांग्लादेश का आत्मविश्वास भी बढेगा.

दोनों टीमों में कुछ खिलाड़ी समान थे:
भारत के लिये इस श्रृंखला में 20 क्रिकेटर उपलब्ध थे क्योंकि बांग्लादेश में पहले वनडे और न्यूजीलैंड में आखिरी मैच के बीच कम समय था क्योंकि दोनों टीमों में कुछ खिलाड़ी समान थे. एक सप्ताह के भीतर हालांकि हालात बद से बदतर हो गए और आखिरी मैच के लिये सिर्फ 14 फिट खिलाड़ी उपलब्ध हैं. हालात यह है कि कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव को तुरंत यहां बुलाना पड़ा क्योंकि भारतीय गेंदबाजी आक्रमण अनुभवहीन लग रहा था. कुलदीप ने 72 वनडे में 118 विकेट लिये हैं और वह इस टीम के सबसे अनुभवी गेंदबाज हैं.

गेंदबाज दीपक चाहर एक बार फिर अनफिट हो गए:
नियमित कप्तान रोहित शर्मा के बायें हाथ के अंगूठे की हड्डी खिसक गई है और उदीयमान तेज गेंदबाज कुलदीप सेन को पहला मैच खेलने के बाद चोट लग गई. तेज गेंदबाज दीपक चाहर एक बार फिर अनफिट हो गए हैं. अक्षर पटेल की पसली में चोट लग गई है और वह पहला मैच नहीं खेल सके जबकि ऋषभ पंत भी चोटिल हैं और उन्हें आराम देना पड़ा था. अब देखना यह है कि कार्यवाहक कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज केएल राहुल पारी की शुरूआत करते हैं या ईशान किशन को अंतिम एकादश में सलामी बल्लेबाज के तौर पर शामिल किया जाता है. 

एक ही विकेट बाकी था जो भारतीय टीम नहीं ले सकी:
दूसरा विकल्प विराट कोहली और शिखर धवन से पारी की शुरूआत कराना और हरफनमौला राहुल त्रिपाठी को अंतिम एकादश में शामिल करना होगा . टीम प्रबंधन अगर सिर्फ बल्लेबाज को चुनता है तो रजत पाटीदार को पदार्पण का मौका मिल सकता है. भारत की गेंदबाजी की कमान मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर, उमरान मलिक, वाशिंगटन सुंदर और अक्षर पटेल के हाथ में थी. पहले मैच में खराब गेंदबाजी के चलते भारत को पराजय का सामना करना पड़ा जब बांग्लादेश को 51 रन बनाने थे और उसका एक ही विकेट बाकी था जो भारतीय टीम नहीं ले सकी.

क्लीन स्वीप’ की शर्मिंदगी से बचना चाहेंगे:
दूसरे मैच में बांग्लादेश ने छह विकेट 69 रन पर गिरने के बाद 200 से अधिक रन बना डाले. आखिरी मैच में बांग्लादेश के हौसले बुलंद होंगे. जिम्बाब्वे के खिलाफ श्रृंखला में मिली जीत को छोड़कर केएल राहुल का बतौर कप्तान रिकॉर्ड खराब रहा है और ऐसे में वह ‘क्लीन स्वीप’ की शर्मिंदगी से बचना चाहेंगे.

टीमें:

भारत: केएल राहुल (कप्तान) , शिखर धवन, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, ईशान किशन, मोहम्मद सिराज, रजत पाटीदार, राहुल त्रिपाठी, वाशिंगटन सुंदर, शाहबाज अहमद, अक्षर पटेल, शार्दुल ठाकुर, उमरान मलिक, कुलदीप यादव.

बांग्लादेश: लिटन दास (कप्तान), अनामुल हक बिजय, शाकिब अल हसन, मुशफिकुर रहीम, अफीफ हुसैन, यासिर अली चौधरी, मेहदी हसन मिराज, मुस्ताफिजूर रहमान, तस्कीन अहमद, हसन महमूद, इबादत हुसैन चौधरी, नासुम अहमद, महमूदुल्लाह, नजमुल हुसैन शांतो, काजी नुरूल हसन सोहन, शरीफुल इस्लाम.

मैच का समय- दोपहर 11.30 से. सोर्स-भाषा

और पढ़ें