स्वास्थ्य मंत्रालय का अनुरोध, कहा- कोरोना महामारी से निपटने के लिए अतिरिक्त स्टाफ की आवश्यकता, डीओपीटी रिक्त पदों पर करे भर्ती

स्वास्थ्य मंत्रालय का अनुरोध, कहा- कोरोना महामारी से निपटने के लिए अतिरिक्त स्टाफ की आवश्यकता, डीओपीटी रिक्त पदों पर करे भर्ती

स्वास्थ्य मंत्रालय का अनुरोध, कहा- कोरोना महामारी से निपटने के लिए अतिरिक्त स्टाफ की आवश्यकता, डीओपीटी रिक्त पदों पर करे भर्ती

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग से नौ वरिष्ठ पदों पर रिक्तियों को भरने के लिए जल्द और समयबद्ध कार्रवाई करने का अनुरोध किया और कहा कि इससे वह ‘‘भारी दबाव’’ में है क्योंकि कोविड-19 के मामलों में गिरावट आने के बावजूद देशभर में महामारी से निपटने की पूरी तैयारी सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने की आवश्यकता है. 

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग में स्थापना अधिकारी और अतिरिक्त सचिव दीप्ति उमाशंकर को लिखे पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने स्वास्थ्य मंत्रालय में केंद्रीय स्टाफ योजना और केंद्रीय सचिवालय सेवा (CSS)  के तहत अतिरिक्त सचिव, संयुक्त सचिव, निदेशक और उप सचिव के ग्रेड में खाली पदों की जानकारी दी. 

कोरोना से निपटनें के लिए हो पर्याप्त स्टाफ:
उन्होंने 13 अक्टूबर को लिखे पत्र में कहा कि मैं कहना चाहूंगा कि कुछ रिक्तियां अब भी हैं जबकि कुछ और पद खाली हो गए हैं या उनके जल्द ही खाली होने की संभावना है. आप जानते हैं कि हालांकि कोविड-19 महामारी के मामले कम हो रहे हैं लेकिन हम कोई नरमी नहीं बरत सकते. इस महत्वपूर्ण वक्त में स्वास्थ्य मंत्रालय को देशभर में महामारी से निपटने की पूरी तैयारी सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने की आवश्यकता है. एक संयुक्त सचिव और आठ उप सचिवों/निदेशकों के खाली पदों ने इस मंत्रालय को भारी दबाव की स्थिति में रख दिया है. ऐसा अनुरोध किया जाता है कि मौजूदा रिक्तियों तथा आने वाले हफ्तों में खाली हो रहे और पदों को भरने के लिए जल्द और समय पर कार्रवाई की जाए. 

पत्र में भूषण ने उन आठ अधिकारियों के नामों का भी उल्लेख किया है जो अध्ययन अवकाश या पदोन्नति या किसी और देश में जाने के कारण मंत्रालय से चले गए हैं. रिक्त पदों को भरने का अनुरोध करते हुए कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को लिखा यह दूसरा पत्र है. पहला पत्र 12 अगस्त को लिखा गया था. सोर्स-भाषा

और पढ़ें