जयपुर राजस्थान में राज्यसभा चुनाव की बिछी चौसर: दो सीटें कांग्रेस खाते में जाने की पूरी संभावना, बीजेपी के खाते में एक सीट तय मानी जा रही; जानिए जीत का पूरा गणित

राजस्थान में राज्यसभा चुनाव की बिछी चौसर: दो सीटें कांग्रेस खाते में जाने की पूरी संभावना, बीजेपी के खाते में एक सीट तय मानी जा रही; जानिए जीत का पूरा गणित

जयपुर: राजस्थान में राज्यसभा चुनाव (Rajasthan Rajya Sabha elections) की चौसर बिछ गई है. 4 सीटों पर चुनावी जंग होनी है. वोटों का गणित कांग्रेस के पक्ष में है, करीब 126 वोट कांग्रेस (congress) खेमे में माने जा रहे, बीजेपी (BJP) को उम्मीद है सेंध लगाने की. 

राज्यसभा चुनाव की गणित की बात करे तो एक सीट को जीतने के लिए कितने वोट चाहिए? दरअसल, प्रदेश की तीन सीटों पर हो रहे चुनाव को लेकर पूरे 200 विधायकों के मान्य वोट हैं. प्रदेश की इन तीनों सीटों की बात करें तो हर एक सीट को जीतने के लिए प्रथम वरीयता के लिए 51 वोट चाहिए. उधर बीजेपी की एक सीट पक्की है लेकिन चौथी सीट पर चुनाव हुआ तो मुकाबला दिलचस्प होगा. 27 तक उम्मीदवार घोषित हो सकते हैं.

सत्ताधारी दल के पास वोटों की गणित की बात करे तो:-

कांग्रेस- 108
निर्दलीय- 13
आरएलडी-1
BTP- 2
CPM- 2
कांग्रेस + 126

--बीजेपी +
71 वोट
RLP - 3
कुल वोट-74

कांग्रेस के खुदके पास108 विधायक है, तीसरी सीट जीतने के लिए 15 वोट अतरिक्त चाहिए, कांग्रेस खाते में 2 सीट तय मानी जा रही. जो कि भाजपा के पास सदन में 71 विधायक हैं भाजपा को दूसरी अतरिक्त सीट जीतने के लिए 11 वोट चाहिए, एक सीट तय मानी जा रही.

राज्यसभा चुनाव का रण:-
- कांग्रेस को तीनों सीट जीतने के लिए चाहिए 41-41-41 वोट
- पहली वरीयता के चाहिए कुल 123 वोट
- भाजपा अगर दूसरा प्रत्याशी खड़ा करती है  तो चाहिए होंगे 41-41 पहली वरीयता के 82 वोट
- भाजपा को दूसरी सीट के लिए तोड़ने होंगे 8 वोट, ऐसे में कांग्रेस का तीसरी सीट पर पलड़ा बेहद मजबूत
- दो सीटों पर बीजेपी की जीत की संभावना तभी है जब निर्दलियों और कांग्रेस कैम्प में सेंध लगे.

बीजेपी की रणनीति:-
- असंतुष्ट कांग्रेस विधायकों का समर्थन जुटाना
- लेकिन वोट दिखाकर देना होगा
- कांग्रेस विधायक दल के व्हीप का पालन करना अनिवार्य होगा
- क्रास वोट, अनुपस्थित और पेन/स्याही की गलती करने पर ही बीजेपी को लाभ
- निर्दलीय विधायकों का वोट गोपनीय होता है दिखाकर और नहीं दिखाकर दोनों तरीके से वोट दे सकते हैं
- बीजेपी की कोशिश निर्दलियों के वोट में सेंध लगे, हालांकि कार्य आसान नहीं है

---कांग्रेस की रणनीति---
- निर्दलीय, BTP, CPM, आरएलडी, RLP को साध रखना
- कैसे भी तीन सीटों को जीतना
- सत्ताधारी दल को एक रखना

बहरहाल बीजेपी अगर चौथी सीट पर उतरी तो बाड़ेबंदी होना तय है. उम्मीदवार चेहरे सामने आने के बाद निर्दलीय, BTP और RLP की रणनीति सामने आएगी. 

और पढ़ें