वानखेड़े, पांच अन्य के खिलाफ ‘जबरन वसूली’ को लेकर प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध

वानखेड़े, पांच अन्य के खिलाफ ‘जबरन वसूली’ को लेकर प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध

वानखेड़े, पांच अन्य के खिलाफ ‘जबरन वसूली’ को लेकर प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध

मुंबई: मुंबई पुलिस से एक वकील ने सोमवार को संपर्क किया और स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े और पांच अन्य के खिलाफ क्रूज पर मादक पदार्थ मामले में कथित रूप से जबरन वसूली के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया. यह जानकारी एक अधिकारी ने दी.

अधिकारी के अनुसार, वकील सुधा द्विवेदी ने लिखित शिकायत एमआरए मार्ग पुलिस थाने और संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मिलिंद भारंभे और राज्य भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के कार्यालयों में भी दी है. द्विवेदी ने शिकायत में वानखेड़े तथा प्रभाकर सैल एवं के. पी. गोसावी सहित पांच अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया है. एक अन्य अधिकारी ने कहा कि हमें शिकायत मिली है, लेकिन अब तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है.

स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल ने मीडिया को दिए एक बयान में दावा किया था:
उल्लेखनीय है कि रविवार को, मामले के एक स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल ने मीडिया को दिए एक बयान में दावा किया था कि एनसीबी के एक अधिकारी और फरार गवाह गोसावी सहित अन्य व्यक्तियों द्वारा आर्यन खान को मादक पदार्थ मामले में छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपये की मांग की गई थी. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें