Jodhpur News: बर्थडे विश करने गई तो सामने आई लिव-इन में रह रहे पति की बेवफाई, रोते-रोते 2 बेटों के साथ ट्रेन के आगे कूदकर की खुदखुशी

जोधपुर: जिले में दो दिन पूर्व दो बच्चों के साथ ट्रेन के आगे कूदने वाली महिला की सुसाइड की वजह पति की बेवफाई निकली. महिला गांव में, उसका पति जोधपुर में रहता था. वह पति को बर्थ-डे विश करने जोधपुर गई थी. कमरे पर पहुंची तो पति की बेवफाई सामने आ गई. पति दूसरी महिला के साथ लिव-इन में रह रहा था. महिला ने पति की बेवफाई का सबूत मोबाइल में रिकॉर्ड किया और रोते-रोते बच्चों को लेकर वहां से निकल गई. फिर गांव जाने के बजाय महिला दोनों बच्चों को लेकर ट्रेन के आगे कूद गई. 

मामले के आईओ (इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर) करवड़ थाने के हेड कॉन्स्टेबल सुखदेव ने बताया कि 2 जुलाई को मथानिया के उम्मेदनगर निवासी सुरेश विश्नोई का जन्मदिन था. सुरेश जोधपुर के रातानाड़ा इलाके में किराए का कमरा लेकर रहता है. वह शहर में टैक्सी चलाने का काम करता है. सुरेश की पत्नी बिरमा दो बेटों कार्तिक और विशाल के साथ ससुराल मथानिया के उम्मेदनगर में ही रहती थी. पति-पत्नी के बीच दो साल से अनबन चल रही थी. रविवार को सुरेश का जन्मदिन था. इसलिए पत्नी ने उसे मथानिया आने को कहा था. रविवार को दिनभर इंतजार करने के बाद भी सुरेश न तो गांव आया और न ही पत्नी को फोन किया. रविवार रात 2 बजे से ढ़ाई बजे के बीच बिरमा ने अपने पति को कई बार कॉल किए, लेकिन उसने फोन अटैंड नहीं किया. 

सोमवार सुबह 6 बजे बिरमा अपने दोनों बच्चों को उनके पिता से मिलाने ससुराल से निकली. मथानिया स्टैंड से उसने बस पकड़ी और जोधपुर शहर के रातानाड़ा इलाके में सुबह 8 बजे पति के रूम पर पहुंच गई. दरवाजा खटखटाया तो पति सुरेश विश्नोई सामने था. पत्नी और बच्चों को देख उसके चेहरे पर हवाइयां उड़ने लगीं. बिरमा अंदर घुसी तो लोअर और टीशर्ट पहने एक युवती उसके सामने थी. दीवार पर बैलून और हैपी बर्थ-डे के स्टिकर लगे थे. पति इस युवती के साथ लिव-इन में रह रहा था. परेशान पत्नी ने दोनों को खूब भला-बुरा कहा. दोनों को रंगे हाथ पकड़ने का वीडियो बनाया. कमरे पर मिली युवती से भी गाली-गलौज की. उसने पति की करतूत का वीडियो अपने ससुराल वालों को भी भेजा. 

हादसे में तीनों की मौत हो गई:
इसके बाद पति और युवती को रूम में छोड़ बच्चों को लेकर रातानाडा स्टैंड पर आई और मथानिया जाने के लिए बस पकड़ ली. मंडलनाथ इलाके में उसने बस रुकवाई और बच्चों को लेकर ट्रैक पर चली गई. नागौर रोड पर जोधपुर के मंडलनाथ इलाके में ओटीसी होटल के सामने सोमवार सुबह 9.15 बजे बिरमा ने दोनों बच्चों के साथ फलोदी की तरफ से आ रही मालगाड़ी के सामने छलांग लगा दी. हादसे में तीनों की मौत हो गई. जिस मालगाड़ी से तीनों टकराए, उसके लोको-पायलट ने ट्रेन रोकी और लोगों की मदद से शवों को मंडोर स्टेशन पहुंचाया. जहां से करवड़ थाना पुलिस ने शव महात्मा गांधी हॉस्पिटल की मॉर्च्युरी पहुंचाए. सुरेश के पिता लाखा विश्नोई ने कहा- मेरे चार बेटे हैं. सभी के दो-दो बच्चे हैं. अच्छा परिवार था. इस हादसे ने सन्न कर दिया. भगवान ऐसा किसी के साथ न करे. बहू सुबह हंसी-खुशी निकली थी. बच्चे भी खुश थे. पता नहीं था कि उन्हें आखिरी बार देख रहा हूं. 

आरोपी ड्राइवर होने के साथ ही हथियारों का भी शौकीन:
करवड़ थाने के हेड कॉन्स्टेबल सुखदेव ने बताया कि परिजनों की शिकायत पर पति और आरोपी महिला की तलाश की जा रही है. घटना के बाद से सुरेश फरार है. उसकी गिरफ्तारी के बाद स्थिति साफ होगी. सुरेश विश्नोई उर्फ राज डाउकिया ड्राइवर होने के साथ ही हथियारों का भी शौकीन है. उसने सोशल मीडिया पर गन के साथ फोटो लगा रखी है. साथ ही इंस्टाग्राम पर राज डाउकिया 007 के नाम से आईडी बना रखी है. अपने इस अकाउंट पर उसने खुद की फोटो तो पिस्टल के साथ डाली ही है, अपने बेटे की फोटो भी अपलोड की है जिसमें वह पिस्टल और कारतूस के साथ दिखाई दे रहा है. कुछ और वीडियो अपलोड किए हैं जिसमें दोनों बच्चे स्कूल यूनिफॉर्म में नजर आ रहे हैं.