जयपुर अब दूसरे प्रदेशों की पुलिस भी मान रही राजस्थान पुलिस के शानदार काम का लोहा, धौलपुर और करौली पुलिस को MP पुलिस ने दिया इनाम

अब दूसरे प्रदेशों की पुलिस भी मान रही राजस्थान पुलिस के शानदार काम का लोहा, धौलपुर और करौली पुलिस को MP पुलिस ने दिया इनाम

जयपुर: राजस्थान पुलिस के शानदार काम का लोहा अब दूसरे प्रदेशों की पुलिस भी मान रही है. धौलपुर और करौली पुलिस के शानदार काम के लिए मध्य प्रदेश पुलिस ने दोनों जिला परिषद को नकद पुरस्कार देने का ऐलान किया है. 

DGP उमेश  मिश्रा के निर्देशन में राजस्थान पुलिस इन दोनों शानदार काम कर रही है. इसी कड़ी में धौलपुर और करौली जिला पुलिस ने एक ऐसा काम किया है जिसके लिए मध्यप्रदेश पुलिस दोनों जिला पुलिस को नकद पुरस्कार देने जा रही है. मध्यप्रदेश में श्योपुर जिले के विजयनगर थाना क्षेत्र से अगवा किए गए 3 चरवाहों को डकैतों के कब्जे से मुक्त करवाने में धौलपुर और करौली जिले के कुल 36 पुलिस अधिकारियों और कर्मियों को प्रशंसा पत्र के साथ ₹25000 नगद पुरस्कार देने के संबंध में मध्य प्रदेश पुलिस ने आदेश जारी किए हैं. 

DGP उमेश मिश्रा ने बताया कि MP पुलिस के चंबल जोन ADG राजीव चावला ने धौलपुर करौली पुलिस को नगद पुरस्कार देने के आदेश जारी किए हैं. करौली जिले के 20 पुलिसकर्मियों औऱ धौलपुर जिले के 16 पुलिसकर्मियों को कुल 25000 रुपए नगद पुरस्कार के रूप में दिए जाएंगे. राजस्थान पुलिस के शानदार सहयोग के लिए मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक में राजस्थान के पुलिस महानिदेशक को फोन कर धन्यवाद दिया है. डीजीपी उमेश मिश्रा ने इस ऑपरेशन में शामिल धौलपुर एसपी धर्मेंद्र सिंह करौली एसपी नारायण सिंह टोगस समेत पूरी टीम को बधाई दी है.

मध्यप्रदेश के शिवपुरी से  किडनैप हुए 3 चरवाहों को मुक्त कराने और किडनैपरों  को पकड़ने में धौलपुर और करौली पुलिस का योगदान काफी अहम रहा है.करौली पुलिस अधीक्षक नारायण सिंह टोगस ने बताया कि मध्यप्रदेश के शिवपुर जिले के एसपी ने उन्हें फोन करके सूचना दी थी कि उनके इलाके से जो चरवाहे किडनैप किए गए हैं उनकी लोकेशन करौली जिले के मंडरायल थाना क्षेत्र में आ रही है जिसके बाद करौली एसपी ने डिप्टी एसपी करौली के नेतृत्व में चार थाना अधिकारियों की टीम लगाई साथ ही लाइन से भी काफी को मौके पर भेजकर कई घंटों तक सर्च अभियान चलाया. पुलिस की सख्ती का ही असर रहा कि किडनैपरों को किडनैप किए गए चरवाहों को छोड़कर भागना पड़ा. 

किडनैपरों  को पकड़ने में दोनों राज्यों की पुलिस का बेहतर समन्वय भी नजर आया:
मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले से किडनैप हुए लोगों को मुक्त कराने और के किडनैपरों  को पकड़ने में दोनों राज्यों की पुलिस का बेहतर समन्वय भी नजर आया है. मध्य प्रदेश पुलिस की ओर से सूचना मिलते ही धौलपुर और करौली दोनों जिलों के पुलिस अधीक्षकों ने क्विक रिस्पांस दिया और अपनी टीमों के साथ बदमाशों की तलाश शुरू कर दी. धौलपुर एसपी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि MP पुलिस की ओर से जैसे ही इस घटना के बारे में जानकारी देकर मदद मांगी गई धौलपुर पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने में श्योपुर पुलिस का पूरा सहयोग किया. चौतरफा दबाव और पुलिस के सघन सर्च अभियान के बाद घबराए करने पर उन्हें पुलिस पर फायरिंग भी की जिसके बाद पुलिस और बदमाशों के बीच काफी देर तक मुठभेड़ चली लेकिन पुलिस की भारी मौजूदगी को देखते हुए बदमाश चरवाहों को छोड़कर भाग खड़े हुए. 

- मध्यप्रदेश के श्योपुर जिले में थाना विजयनगर क्षेत्र से तीन चरवाहों को अज्ञात डकैतों ने फिरौती के लिए अगवा कर लिया 

- तकनीकी सहायता से अपहरणकर्ताओं की लोकेशन चंबल बेहद क्षेत्र के थाना सरमथुरा, सोने का गुर्जा एवं करौली के मंडरायल में आई

- मध्य प्रदेश के एडीजी क्राइम की सूचना पर संयुक्त रूप से विशेष अभियान चलाया गया

- सरमथुरा थाना के खुशहालपुर के जंगलों में सघन काम्बिंग की गई

- पुलिस का बढ़ता घेरा देखकर अपहरणकर्ता तीनों चरवाहों को छोड़कर फरार हो गए

- बाद में 3 आरोपियों को अवैध हथियार सहित गिरफ्तार किया गया
 

और पढ़ें