नकली घी से बचाव के लिए RCDF CMD सुषमा अरोड़ा की बड़ी पहल, सरस घी उपभोक्ता अब नकली और असली घी की कर सकेंगे पहचान

जयपुर: नकली घी से बचाव के लिए RCDF CMD सुषमा अरोड़ा ने बड़ी पहल की है. सरस घी उपभोक्ता अब नकली और असली सरस घी की पहचान कर सकेंगे. अब उपभोक्ता QR कोड से असली-नकली सरस घी की पहचान कर सकेंगे. 

एक व आधा लीटर पैकिंग पर द्विस्तरीय सत्यापन वाला QR कोड जारी किया जा रहा है. अब घी के पैकेट पर सरस के लोगो वाला होलोग्राम होगा और जिसको स्क्रैच करने पर QR कोड उभरेगा. इस QR कोड को मोबाइल के स्कैनर से या किसी भी UPI एप से स्कैन कर सकेंगे.

उपभोक्ता स्कैन करने पर असली-नकली सरस घी की पहचान कर सकेंगे. QR कोड स्कैन करने पर हर पैकिंग पर अलग-अलग यूनिक ID, बैच नंबर लिखा हुआ होगा. पैकिंग पर MRP सहित मैन्युफैक्चरिंग और एक्सपायरी तारीख भी लिखी मिलेगी, इसके साथ स्कैन करने पर सरस घी का लोगो भी साथ में होगा.

बता दें कि राजस्थान में इन दिनों 'शुद्ध आहार, मिलावट पर वार' अभियान चलाया जा रहा है जिसके चलते खाद्य आयुक्त इकबाल खान, अति.खाद्य आयुक्त पंकज ओझा के निर्देशन में डी मार्ट की अलग-अलग ब्रांचों पर छापेमारी की गई. जिसमें नकली घी के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए  2700 लीटर नकली घी सीज किया है.