लखनऊ ऑक्सीजन की कमी पर अखिलेश यादव का बयान, बोले- सरेआम झूठ बोल रही है BJP सरकार

ऑक्सीजन की कमी पर अखिलेश यादव का बयान, बोले- सरेआम झूठ बोल रही है BJP सरकार

ऑक्सीजन की कमी पर अखिलेश यादव का बयान, बोले- सरेआम झूठ बोल रही है BJP सरकार

लखनऊ: कोरोना वायरस संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों से देश के साथ प्रदेश में स्थिति बेहद गंभीर होती जा रही है. मेडिकल ऑक्सीजन (Medical Oxygen) के साथ दवाओं की किल्लत से लोगों की बढ़ती परेशानी के लिए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार को जिम्मेदार माना है.

मोदी और योगी संक्रमण को लेकर जरा भी गंभीर नहीं: 
अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditya Nath) सरकार कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर को लेकर जरा भी गंभीर नहीं है. सरकार तो सिर्फ आंकड़ों की बाजीगरी में लगी है. रोग लोगों की मौत की संख्या बढ़ती जा रही है, लेकिन सरकार मेडिकल ऑक्सीजन के साथ ही हॉस्पिटल में बेड और दवा भी मुहैया कराने मेंं पूरी तरह से फेल है. इसके बाद भी लगातार झूठ बोला जा रहा है.

लोग मेडिकल ऑक्सीजन के लिए दर दर भटक रहें हैं: 
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Former CM Of UP Akhilesh Yadav) ने मंगलवार को अपनी पीड़ा पर एक ट्वीट किया है. अखिलेश यादव ने लिखा है कि उत्तर प्रदेश में लोग मेडिकल ऑक्सीजन के लिए दर-दर भटक रहे हैं. खाली सिलेंडर लेकर यह लोग भीषण गर्मी (Scorching Heat) में या तो ऑटो या फिर रिक्शा में बैठकर लम्बी दूरी तय कर रहे हैं, लेकिन इनको मेडिकल ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं हो पा रही है.

यूपी में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं, अफ़वाह फैलाने वालों पर एनएसए के तहत हो कार्रवाई: योगी आदित्यनाथ

वो झूठ बोल रहा था बड़े सलीक़े से
मैं ऐतबार न करता तो और क्या करता ....

— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) April 27, 2021


सत्य का पहले इतना अपमान नहीं हुआ:
अखिलेश यादव ने कहा कि जिस तरह से लोग भटक रहे वो बेहद ही दु:खद क्षण है. उससे भी दु:खद है कि केंद्र की नरेंद्र मोदी के साथ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार लगातार झूठ बोल रही (Lying) है. BJP सरकार तो अब रोज सरेआम झूठ बोल रही है. यह एक नैतिक अपराध (Moral Offense) है. BJP तो नैकिकता का पाठ पढ़ाने वाली पार्टी है. अखिलेश यादव ने कहा कि सत्य का इतना अपमान पहले नहीं हुआ है.

 

और पढ़ें