सिडनी INDvsAUS: ब्रिसबेन में ही होगा चौथा टेस्ट, क्षमता के सिर्फ 50 प्रतिशत दर्शकों को आने की स्वीकृति

INDvsAUS: ब्रिसबेन में ही होगा चौथा टेस्ट, क्षमता के सिर्फ 50 प्रतिशत दर्शकों को आने की स्वीकृति

INDvsAUS: ब्रिसबेन में ही होगा चौथा टेस्ट, क्षमता के सिर्फ 50 प्रतिशत दर्शकों को आने की स्वीकृति

सिडनी: भारतीय क्रिकेट टीम मंगलवार को ब्रिसबेन के लिए रवाना होगी क्योंकि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह के क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) को दिए आश्वासन के बाद क्वीन्सलैंड की राजधानी में 15 जनवरी से चौथे और अंतिम टेस्ट की मेजबानी को लेकर अनिश्चितता खत्म हो गई है. ब्रिसबेन में हालांकि क्षमता के 50 प्रतिशत दर्शकों को ही आने की इजाजत होगी. बीसीसीआई ने सीए को ब्रिसबेन में कड़े पृथकवास नियमों से राहत देने के संदर्भ में लिखा था क्योंकि इसके कारण भारतीय टीम को होटल में ही रहना पड़ता जिसे लेकर खिलाड़ियों को आपत्ति थी.

सीए ने कहा- खिलाड़ियों, मैच अधिकारियों और समुदाय की सुरक्षा और बेहतरी शीर्ष प्राथमिकताः
सीए के अंतरिम सीईओ निक हॉकले ने बयान में कहा कि मैं सहयोग और योजना के अनुसार चौथे टेस्ट के आयोजन के लिए सीए तथा बीसीसीआई के साथ काम करने की इच्छा के लिए क्वीन्सलैंड सरकार को धन्यवाद देना चाहता हूं. उन्होंने कहा कि लेकिन अधिक महत्वपूर्ण उस योजना पर चलना है जिसमें खिलाड़ियों, मैच अधिकारियों और समुदाय की सुरक्षा और बेहतरी शीर्ष प्राथमिकता है.

बीसीसीआई ने कहा था कि आयोजन स्थल में बदलाव की मांग नहीं कीः
पिछले एक हफ्ते में बीसीसीआई के सूत्रों ने पीटीआई को पुष्टि की थी कि उन्होंने कभी आयोजन स्थल में बदलाव की मांग नहीं की लेकिन यह जरूर कहा था कि लगातार दो कड़े पृथकवास खिलाड़ियों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए आदर्श नहीं हैं. खिलाड़ियों के लिए अब इंडियन प्रीमियर लीग की तरह के जैविक रूप से सुरक्षित माहौल की उम्मीद है जहां वे होटल के अंदर एक दूसरे से मिल सकते हैं. यह समस्या उस समय खड़ी हुई जब क्वीन्सलैंड ने सिडनी में कोविड-19 संक्रमण के नए मामलों को देखते हुए न्यू साउथ वेल्स से आने वाले लोगों के लिए अपनी सीमा बंद कर दी. भारतीय खिलाड़ियों को इससे छूट दी गई थी लेकिन उन्हें कड़े पृथकवास नियमों का सामना करना था. मैच को लेकर अनिश्चितता उस समय बढ़ गई जब शहर में ब्रिटेन से आए नए कोविड-19 संक्रमण का मामला मिला और पिछले हफ्ते तीन दिवसीय लॉकडाउन की घोषणा की गई.
 
स्टेडियम्स में 50 प्रतिशत दर्शकों को ही आने की स्वीकृतिः
मैच को लेकर स्थिति स्पष्ट होने के बाद सीए ने दर्शकों की क्षमता की घोषणा की.सीए ने विज्ञप्ति में कहा कि क्वीन्सलैंड स्वास्थ्य और क्वीन्सलैंड सरकार की सलाह पर चलते हुए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और स्टेडियम्स क्वीन्सलैंड 15 जनवरी से ब्रिसबेन टेस्ट के लिए पहुंचने वाले लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक साथ काम कर रहे हैं और इस दौरान गाबा में दर्शकों की कुल क्षमता के 50 प्रतिशत दर्शकों को ही आने की स्वीकृति होगी. उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी के नियमों के अनुसार बैठने की योजना से दर्शकों की संख्या में कटौती होगी, अब मैच के टिकटों को दोबारा बेचा जाएगा और मौजूदा टिकट धारकों को पूरा पैसा वापस मिलेगा जिसमें टिकट बीमा सहित सभी खर्चे शामिल हैं.

लोगों को मास्क पहनना होगा अनिवार्य, मास्क के बिना स्टेडियम में प्रवेश नहींः
क्वीन्सलैंड के खेल मंत्री स्टर्लिंग हिंचलिफ ने कहा कि इस बड़े मैच के आयोजन को लेकर पूरा प्रांत उत्साहित है. हिंचलिफ ने कहा कि गाबा की तेज और उछाल वाली पिच ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के मजबूत किले के रूप में इसे प्रशंसकों की पसंदीदा बनाती है. गाबा के महाप्रबंधक मार्क जुंडांस ने ब्रिसबेन में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हम यहां भारत और ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीमों का टेस्ट मैच के लिए स्वागत करने को लेकर उत्साहित हैं. स्टेडियम की क्षमता के 50 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति देने का फैसला किया गया है. उन्होंने कहा कि लोगों को मास्क पहनने होंगे. जो बिना मास्क के होगा उसे प्रवेश नहीं दिया जाएगा.
सोर्स भाषा 

और पढ़ें