Rajasthan Budget 2024: राजधानी जयपुर में बनेगा राजस्थान मंडपम, महिलाओं के लिए बायो पिंक टॉयलेट, वित्त मंत्री दीया कुमारी पेश कर रही बजट

जयपुरः भजनलाल सरकार का पहला पूर्ण बजट आज पेश किया जा रहा है. वित्त मंत्री दीया कुमारी राजस्थान की विधानसभा में बजट पेश कर रही है. इस दौरान उन्होंने कहा कि राजधानी जयपुर में राजस्थान मंडपम बनेगा. प्रदेश में नई पर्यटन नीति लाई जाएगी. राजस्थान पर्यटन बोर्ड का गठन होगा. बोर्ड के जरिए 5000 करोड़ के काम करवाए जाएंगे. 20 प्रमुख पर्यटक स्थलों पर 20 करोड़ के अतिरिक्त कार्य करवाए जाएंगे. 

765 केवी क्षमता के 6 नए GSS'बनेंगे. इसके अलावा अन्य जगहों पर भी ग्रिड सब स्टेशनों की घोषणा की गई. प्रदेश में बिजली से महरूम 2.08 लाख घरों को कनेक्शन जारी होंगे. वन डिस्ट्रिक वन पॉलिसी लाया जाना प्रस्तावित, MSME पॉलिसी 2024 लाई जाना प्रस्तावित, खादी ग्राम उद्योग और बुनकरों को ऋण दिया जाना प्रस्तावित है. माटी कला सेंट्रल ऑफ एक्सीलेंस स्थापित होगा. 

महिलाओं के लिए बनाए जाएंगे बायो पिंक टॉयलेटः
महिलाओं के लिए बायो पिंक टॉयलेट बनाए जाएंगे. प्रथम चरण में 14 करोड़ की लागत से 67 बायोपिंक टॉयलेट बनेंगे. नई औद्योगिक पॉलिसी 2024 लाई जाएगी. नई वेयर हाउस पॉलिसी भी बनाई जाएगी. प्रदेश से निर्यात बढ़ाने के लिए एक्सपोर्ट पॉलिसी बनाई जाना प्रस्तावित है. आने वाले दिनों में प्रवासी राजस्थानी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा. बालोतरा में राजस्थान पेट्रोजोन बनेगा. डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हब भी बनाया जाएगा. 

सरिस्का व रणथंभौर में ई-व्हीकल संचालन की घोषणाः
1500 किलोमीटर सड़क का निर्माण होगा. करीब 60 हजार करोड़ रुपए की लागत से निर्माण की घोषणा की गई. चरणबद्ध तरीके से स्टेट हाईवे, फ्लाईओवर, ROB के निर्माण के लिए 9 हजार करोड़ रु.का प्रावधान है. सरिस्का व रणथंभौर में ई-व्हीकल संचालन की घोषणा की गई. 

पेयजल के लिए अमृत 2.0 योजनाः
5846 अतिरिक्त गांव को पेयजल उपलब्ध कराने के लिए परियोजनाएं है. 20 हजार करोड़ से ज्यादा की 6 परियोजनाएं शुरू की जाएगी. ग्रामीण क्षेत्र के साथ शहरी क्षेत्र में पेयजल योजनाओं के लिए अमृत 2.0 योजना लाई जाएगी. योजना के तहत प्रदेश के 183 शहरों में 5 हजार 180 करोड़ से काम करवाए जाएंगे. 

ऊर्जा भण्डारण के लिए बनेगी नीतिः
वित्त मंत्री दीया कुमारी ने ऊर्जा क्षेत्र को लेकर घोषणा करते हुए कहा कि ऊर्जा का बैकअप प्लान काफी जरूरी है. इसको देखते हुए ऊर्जा भण्डारण के लिए नीति बनाई जाएगी. अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देना जरूरी है. ऐसे में सभी सरकारी कार्यालयों को सौर ऊर्जा से जोड़ा जाएगा. रिवेम्प स्कीम के तहत चरणबद्ध तरीके से ये काम होगा. 

हर विधानसभा क्षेत्र में 5 करोड़ की सड़कें बनेंगी. 3 करोड़ के अन्य विकास कार्य की स्वीकृति जारी की गई है. 53000 किमी सड़क सड़क के निर्माण के लिए 60,000 करोड़ का बजट है. प्रदेश में 2750 किलोमीटर ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे बनाया जाना प्रस्तावित है. 20 करोड़ की लागत की डीपीआर तैयार की जा रही है. 

सोलर पार्क होंगे विकसितः 
पूगल और छतरगढ़ में सोलर पार्क विकसित होंगे. हर घर हर खेत बिजली योजना को साकार किया जाएगा. आदर्श सोलर ग्राम की स्थापना की जाएगी. सभी सरकारी कार्यालय में सौर ऊर्जा संयंत्र लगाए जाएंगे. आगामी दिनों में 2 लाख घरों में घरेलू विद्युत कनेक्शन होंगे. 

राज्य की इकॉनोमी का आकार 350 अरब डॉलर का लक्ष्य रखा. राज्य बजट 10 बिन्दुओं पर केन्द्रित रहेगा. दीया कुमारी ने कहा कि संकल्प पत्र की 45 फीसदी घोषणाओं पर कार्य शुरू हुए. 53 फीसदी से अधिक बजट घोषणाओं पर काम किया. जल जीवन मिशन योजना हमारे लिए वरदान साबित हो सकती है. 

25 लाख घरों में नल से जल पहुंचाने का लक्ष्य:
25 लाख घरों में नल से जल पहुंचाने का लक्ष्य है. वित्त मंत्री दीया कुमारी ने कहा कि बजट में आमजन को राहत देने की दिशा निर्धारित की. जनता से किए वादों को धरातल पर लाने का काम शुरू. पेपर लीक की रोकथाम के लिए 100 से अधिक गिरफ्तारियां हुई. 

ERCP के पहले चरण का काम शुरू:
ERCP के पहले चरण का काम शुरू हो चुका है. दीया कुमारी ने कहा कि संकल्प पत्र की 45 फीसदी घोषणाओं पर कार्य शुरू हुए. इससे पहले मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा विधानसभा पहुंचे. वित्त मंत्री दीया कुमारी विधानसभा पहुंचीं. फर्स्ट इंडिया से बातचीत में दीया कुमारी ने कहा कि पूरी तैयारी है,अच्छा बजट लाएंगे. इससे पहले बजट की प्रतियां राजस्थान विधानसभा पहुंची. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बजट की प्रतियां विधानसभा पहुंची.