भीलवाड़ा में नाबालिग को भट्टी में झोंकने वाले दोनों दोषियों को सुनाई फांसी की सजा, आखिरकार कोटड़ी की बेटी को मिला न्याय

भीलवाड़ा: आखिरकार कोटड़ी की बेटी को न्याय मिल गया. पोक्सो कोर्ट ने नज़ीर पेश की. नाबालिग को भट्टी में झोंकने वाले दोनों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई. कोर्ट ने इस वारदात को 'दुर्लभ से दुर्लभतम' अपराध करार दिया. गत साल 2 अगस्त को दिल दहला देने वाली घटना हुई थी. गैंगरेप के बाद कोयले की भट्टी में जिंदा जलाने का मामला सामने आया था. पुलिस ने भी एक महीने के अंदर 473 पन्नों की चार्जशीट पेश की थी.

आपको बता दें कि भीलवाड़ा भट्टीकांड में आज पोक्सो कोर्ट 2 ने फैसला सुनाया. दोनों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई. इससे पहले ट्रायल कोर्ट ने 2 आरोपी को दोषी करार दिया था. 7 आरोपियों को बरी किया था. सरकारी वकील महावीर किसनावत ने बताया कि कहा आज सजा के बिंदु पर होगी सुनवाई. सुनवाई के बाद कोर्ट ने फैसला सुनाया. मामले में 7 लोगों को क्यों बरी किया गया है. ऑर्डर की कॉपी आने पर इसका विश्लेषण किया जाएगा. आरोपियों को बरी करने के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील करेंगे. 

आपको बता दें कि पिछले साल 2 अगस्त को  भीलवाड़ा में दिल दहला देने वाली घटना हुई थी. पोक्सो कोर्ट 2 ने आज सजा पर फैसला सुनाया. गैंगरेप के बाद कोयले की भट्टी में जिंदा जलाने का मामला सामने आया था. पुलिस ने मामले में त्वरित अनुसंधान किया. एक महीने के अंदर 473 पन्नों की चार्जशीट पेश की. कोर्ट ने भी इस हत्याकांड को थान ए श्रेणी का अपराध माना. 

भीलवाड़ा भट्टीकांड मामले में करीब 10 माह से सुनवाई चल रही है. कुल 43 गवाहों के मामले में बयान हुए थे. 43 गवाहों में से एक गवाह पक्षद्रोही हुआ था. विशेष लोक अभियोजक महावीर किसनावत ने जानकारी देते हुए कहा कि राज्य सरकार की ओर से 43 गवाहों के बयान पंजीबद्ध किए गए. मामले में एक महिला गवाह ने अभियोजन साक्ष्य के खिलाफ बयान दिया. क्योंकि वह महिला गवाह प्रकरण के मुख्य अभियुक्त की सास थी. 

भीलवाड़ा भट्टीकांड मामले की गुत्थी सुलझाने के लिए बहुचर्चित भंवरी देवी हत्याकांड की स्टडी की गई थी. 2 महीने पहले से लड़की पर दोनों भाइयों की गलत नजर थी. 2 अगस्त 2023 को दोनों आरोपियों को मौका मिला. लड़की का परिवार रिश्तेदारी में गया था. लड़की सुबह 9 बजे तीन बकरियों को चराने निकली थी. गैंगरेप के बाद नाबालिग को भट्टी में डालकर जिंदा जलाया. रात 10 बजे जब जलती देखी कोयला भट्टी तो गांव वालों को शक हुआ. परिवारजनों ने जब भट्टी का दरवाजा खोला. परिवारजनों को कोयले में चांदी का कड़ा मिला. 

बहुचर्चित भीलवाड़ा भट्टीकांड मामले में कोर्ट आज सजा पर फैसला सुनाया. ट्रायल कोर्ट ने 2 आरोपी को दोषी करार दिया था. कोर्ट के बाहर भारी पुलिस जाब्ता तैनात किया गया. सिटी थाना के थानाधिकारी राजपाल भी मौके पर मौजूद. सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया. राजकीय अधिवक्ता महावीर किसनावत भी कोर्ट पहुंच चुके है.