राजस्थान में भीषण गर्मी और लू से मौतों को लेकर हाईकोर्ट गंभीर, कहा- सरकार 12 बजे से 3 बजे तक मजदूरी करने वाले लोगों को रोके

जयपुर: प्रदेश में भीषण गर्मी और लू से मौतों को लेकर हाईकोर्ट गंभीर है. मौतों के बढ़ते आंकड़ों को लेकर हाईकोर्ट ने स्वप्रेरित प्रसंज्ञान लिया है. जस्टिस अनूप कुमार ढंढ की एकलपीठ ने स्वप्रेरित प्रसंज्ञान लिया है. 

हाईकोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर कहा कि इस विषय को लेकर केंद्र-राज्य सरकार तुरंत एडवाइजरी जारी करें. भीषण गर्मी से मौत हुए आश्रितों को मुआवजा दें.

राज्य सरकार सार्वजनिक स्थानों सहित रोड पर पानी और छाया की व्यवस्था करें. साथ ही दोपहर 12 बजे से 3बजे तक मजदूरी करने वाले लोगों को रोका जाए. अस्पतालों सहित डिस्पेंसरियों में भी इलाज की समुचित व्यवस्था की जाए.

अदालत ने अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल राजदीपक रस्तोगी, महाधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद, अतिरिक्त महाधिवक्ता भरत व्यास, हाईकोर्ट बार एसोसिएशन अध्यक्ष प्रहलाद शर्मा, BCR के वाइस प्रेसिडेंट कपिल प्रकाश माथुर को अदालत में अपना पक्ष रखने को कहा है.